ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार मैचों की सीरीज की शुरुआत एडिलेड टेस्ट से होगी. यह मुकाबला भारतीय समयानुसार सुबह 5.30 बजे शुरू होगा.

भारतीय क्रिकेट टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ गुरुवार से शुरू हो रही टेस्ट सीरीज में उतरेगी, तो उसका लक्ष्य 71 वर्षों में पहली बार कंगारुओं की धरती पर सीरीज जीतना होगा. एडिलेड टेस्ट भारतीय समयानुसार सुबह 5.30 शुरू होगा.

दक्षिण अफ्रीका में भारत को टेस्ट सीरीज में 1-2 और इंग्लैंड में 0-4 से पराजय झेलनी पड़ी. विराट कोहली की टीम अब ऑस्ट्रेलिया में चार टेस्ट मैचों की सीरीज जीतकर विदेश में ‘फ्लाप शो’ का कलंक मिटाना चाहेगी.

IND vs AUS: 12 खिलाड़ियों का ऐलान, भुवी-कुलदीप-जडेजा नहीं

दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज के रूप में खुद को स्थापित कर चुके कोहली के लिए करिश्माई कप्तान कहलाने का भी यह सीरीज सुनहरा मौका है. ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर भारत ने अब तक 44 टेस्ट खेलकर सिर्फ पांच जीते हैं.

पिछले 71 साल में 11 दौरों पर भारत ने दो बार सीरीज ड्रॉ कराई. पहले सुनील गावस्कर की कप्तानी में 1980-81 और फिर सौरव गांगुली के कप्तान रहते 2003-04 में.

भारतीय टीम आक्रामक क्रिकेट खेलना चाहेगी, लेकिन 12 खिलाड़ियों में हनुमा विहारी और रोहित शर्मा की मौजूदगी संकेत है कि 20 विकेट लेने के लिए पांच गेंदबाजों को उतारने की रणनीति में बदलाव होगा.

चोटिल हरफनमौला हार्दिक पंड्या की गैर मौजूदगी से टीम का संतुलन बिगड़ा है. दूसरी ओर ऑस्ट्रेलिया भी गेंद से छेड़छाड़ मसले में प्रतिबंध झेल रहे स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर की गैर मौजूदगी में कमजोर लग रही है.

पंड्या की गैर मौजूदगी में अतिरिक्त बल्लेबाज की जगह रोहित शर्मा को मिलना तय है. उन्होंने आखिरी बार टेस्ट क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका में खेला था और पांचवें नंबर पर उतरकर चार पारियों में 78 रन ही बना सके थे. इंग्लैंड के गेंदबाजों के सामने प्रभावी रहे हनुमा विहारी ने वहां पहला अर्धशतक जमाया था.

भारत के सामने दो मसले हैं. सबसे पहला तो बल्लेबाजी में कप्तान कोहली पर निर्भरता कम करनी होगी. कोहली ने दक्षिण अफ्रीका में तीन टेस्ट में 286 रन बनाए. चेतेश्वर पुजारा 100 रन ही बना सके, जबकि मुरली विजय ने 102 और केएल राहुल ने दो टेस्ट में 30 रन बनाए.

पंड्या टीम में नहीं, कोहली ने गेंदबाजों को दिया ये फरमान

इंग्लैंड में दो टेस्ट में 26 रन के बाद विजय को स्वदेश भेज दिया गया. राहुल पांच टेस्ट में 299 रन ही बना सके. विदेश में पिछली नौ पारियों में वह 150 ही बना सके हैं.

भारत ने आठ टेस्ट में चार अलग-अलग सलामी जोड़ियां उतारी हैं, जिनमें जोहानिसबर्ग टेस्ट में पार्थिव पटेल ने विजय के साथ पारी का आगाज किया. पृथ्वी शॉ की चोट के कारण अब राहुल और विजय पारी का आगाज कर सकते हैं.

गेंदबाजी आक्रमण की कमान ईशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह और आर अश्विन संभालेंगे. ऑस्ट्रेलिया ने चार तेज गेंदबाजों मिशेल स्टार्क, पैट कमिंस, जोश हेजलवुड और नाथन लियोन को शामिल किया है.

टीमें-

भारत-12: विराट कोहली (कप्तान), केएल राहुल, मुरली विजय, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, रोहित शर्मा, हनुमा विहारी, ऋषभ पंत, आर. अश्विन, ईशांत शर्मा, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी.

ऑस्ट्रेलिया-11 : टिम पेन (कप्तान), मार्कस हैरिस, एरॉन फिंच, उस्मान ख्वाजा, ट्रेविस हेड, शॉन मार्श, पीटर हैंडस्कॉम्ब, नाथन लियोन, मिशेल स्टार्क, पैट कमिंस, जोश हेजलवुड.