पुजारा ने इस साल विदेशी सरजमीं पर दूसरा शतक जड़ा है, उन्होंने इंग्लैंड में साउथम्प्टन में सैकड़ा जमाया था. उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जोहानिसबर्ग और इंग्लैंड के खिलाफ नॉटिघंम में मिली जीत के दौरान अर्धशतकीय पारियां भी खेली थीं.

चेतेश्वर पुजारा ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शुरूआती टेस्ट में उनकी धैर्य से खेली गई शतकीय पारी लंबे प्रारूप में लगाए गए उनके 16 सैकड़ों में शीर्ष पांच में शामिल होगी.

पुजारा ने इस साल विदेशी सरजमीं पर दूसरा शतक जड़ा है, उन्होंने इंग्लैंड में साउथम्प्टन में सैकड़ा जमाया था. उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जोहानिसबर्ग और इंग्लैंड के खिलाफ नॉटिघंम में मिली जीत के दौरान अर्धशतकीय पारियां भी खेली थीं.

पुजारा ने दिखाया द्रविड़ वाला दम, हैरान कर देगा ये रिकॉर्ड

पुजारा के शतक की मदद से भारत ने स्टंप तक नौ विकेट गंवाकर 250 रन बना लिए थे. दिन का खेल समाप्त होने के बाद उन्होंने कहा, ‘यह (गुरूवार की पारी) टेस्ट क्रिकेट में मेरी शीर्ष पारियों में से एक है. लेकिन, साथी खिलाड़ी इसकी प्रशंसा कर रहे थे और वे कह रहे थे कि यह सर्वश्रेष्ठ में से एक थी.’

Embedded video

पुजारा ने 246 गेंद में 123 रन बनाकर भारत को यहां मौजूदा टेस्ट में मुश्किल से निकालने में मदद की. इस 30 साल के खिलाड़ी ने कहा कि हालांकि उनके 16 में से ज्यादातर (10) सैकड़े घरेलू मैदान पर बने हैं, लेकिन इससे यह नहीं लगता कि वह भारतीय पिचों पर ज्यादा प्रभावी है. पुजारा के केवल तीन शतक ही उपमहाद्वीप से बाहर बने हैं.

उन्होंने कहा, ‘लोग हमेशा कहते हैं कि मैंने भारत में ज्यादा रन जुटाए हैं. लेकिन साथ ही आपको यह भी देखना होगा कि हम भारत में कितने मैच खेलते हैं. अगर हम भारत में ज्यादा मैच खेलते हैं, तो निश्चित रूप से मैं वहीं ज्यादा रन बनाऊंगा.’