• कमलनाथ में मुख्यमंत्री की बांधवगढ़ यात्रा पर उठाए सवाल
  • चुनाव आयोग से कहा- मुख्यमंत्री मतगणना को प्रभावित करेंगे

भोपाल.  बुधवार को प्रदेश सरकार की कैबिनेट के बाद गरमाई राजनीति के बाद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ का भी बयान आया। उन्होंने दावा किया कि हर हाल में प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने वाली है। मुख्यमंत्री मतगणना में गड़बड़ी करने की तैयारी करने के उद्देश्य से बांधवगढ़ गए हैं।

कमलनाथ ने कहा कि मतगणना से पांच दिन पहले कैबिनेट बुलाकर शिवराज सिंह ने ये जताने की कोशिश की है कि उन्हें किसानों और जनता की बहुत चिंता है। जनता जानती है कि उन्होंने 15 साल में कैसे और क्या काम किए हैं।

 

उन्होंने कहा कि प्रेस कॉन्फ्रेंस में शिवराज ने जो कहा वो चुनाव कार्य में लगे हजारों कर्मचारियों का अपमान है। उन्होंने ईवीएम में हो रही गड़बड़ियों पर एक शब्द भी नहीं बोला। इससे प्रतीत होता है कि इस पूरे गड़बड़झाले को मुख्यमंत्री का संरक्षण प्राप्त है।

 

ये लगाया आरोप: कमलनाथ ने दावा कि भाजपा सरकार कितनी भी गड़बड़िया कर लें जनता का जनादेश उनके साथ रहेगा। उन्होंने चुनाव आयोग से मांग की है कि वह शिवराजसिंह चैहान मतदान के बाद उनके तमाम दौरों, मुलाकातों व बांधवगढ़ यात्रा पर निगरानी रखे। उनके पास इसकी पुख्ता जानकारी है कि छुट्टियों के बहाने बांधवगढ़ जा रहे शिवराजसिंह की कई रिटर्निंग अफसरों से मुलाकात की तैयारी है, ताकि दबाव, प्रभाव डालकर बडे़ पैमाने पर मतगणना के दौरान गड़बड़ी की जा सके।

जिन-जिन क्षेत्रों में भाजपा हार रही है और कांगे्रस जीत रही है वहां चुनाव कार्य में लगे जिम्मेदार अधिकारियों पर दबाव, प्रभाव डाला जा रहा है। इसलिए चुनाव आयोग मतगणना के पूर्व चुनावी कार्य में लगे अधिकारियों को जो शिवराजसिंह से मुलाकात कर रहे हैं, उन्हें निगरानी में ले।