पंजाब के नए मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने गुरुवार को कहा कि मुख्यमंत्री बनने के बाद वह खुद को ‘कैद’ में महसूस कर रहे थे जब उन्होंने देखा कि उनकी और उनके वाहनों के काफिले की सुरक्षा के लिए 1000 पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं.

चंडीगढ़,
पंजाब के नए मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने गुरुवार को कहा कि मुख्यमंत्री बनने के बाद वह खुद को ‘कैद’ में महसूस कर रहे थे जब उन्होंने देखा कि उनकी और उनके वाहनों के काफिले की सुरक्षा के लिए 1000 पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं. उन्होंने कहा, ”वीआईपी होने का क्या फायदा. जब मैं मुख्यमंत्री बना तो मैं खुद को कोस रहा था. मुझे भारी भीड़ ने एस्कॉर्ट किया. मैंने अधिकारियों से काफी सिक्योरिटी को कम करने के लिए कहा, क्योंकि मैं एक स्वतंत्र व्यक्ति हूं. मुझे कौन मारेगा.

पंजाब के मुख्यमंत्री चन्नी ने पूछा कि बस मुझे बताओ कि मुझे मारने से क्या मिलेगा. क्या आप जानते हैं कि मेरा सुरक्षा कवच कितना बड़ा है? मेरी सुरक्षा में 1000 जवानों को तैनात किया गया था. मुझे 200 वाहन दिए गए थे. कुछ वाहन एक कमरे की तरह बड़े थे. शिरोमणि अकाली दल पर तंज कसते हुए चन्नी ने कहा कि बड़ी कारों को बादलों ने खरीदा था.

उन्होंने आगे कहा, “ये कारें बादल परिवार द्वारा खरीदी गई थीं. मैं अभी-अभी एक वाहन में सवार हुआ जो एक कमरे जितना बड़ा है. इसकी कीमत लगभग दो करोड़ रुपए है. उन्हें यह पैसा गरीब लोगों पर खर्च करना चाहिए था. मेरे पास आठ वाहनों एक काफिला है.” चन्नी ने कहा कि उन्होंने मुख्य सचिव से अपने सुरक्षा कवर को कम करने और सुरक्षा विंग में केवल पांच से 10 पुलिसकर्मियों को रखने के लिए कहा है.

चरणजीत सिंह चन्नी ने आगे कहा, “मैंने मुख्य सचिव राहुल तिवारी से पूछा है कि मेरे आसपास इतनी सुरक्षा क्यों तैनात की गई है? उन्होंने मुझे बताया कि खुफिया विंग ने पुलिस की संख्या कम करने से इनकार कर दिया है. वे कहते हैं कि मुझे कुछ भी हो सकता है. मैंने कहा मैं इसके लिए जिम्मेदार होऊंगा. बस सुरक्षा हटाओ. इस बल का क्या उपयोग है? भीड़ को संभालने के लिए केवल पांच से 10 लोग ही काफी हैं.”

चरणजीत सिंह चन्नी ने पंजाब टेक्निकल यूनिवर्सिटी में छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि इन दिनों सुरक्षा कवर एक स्टेटस सिंबल बन गया है. चन्नी ने कहा, “यह एक स्टेटस सिंबल बन गया है कि इस व्यक्ति के पास इतनी संख्या में बंदूकधारी हैं. मैं सुखबीर बादल नहीं हूं जो दिखावे में विश्वास करूं.”

बादल की आलोचना करते हुए चन्नी ने कहा कि लोग बादल के साथ चलने को तैयार नहीं हैं, इसलिए उनके पास कई वाहन हैं. चन्नी ने छात्रों से कहा कि वे उन्हें अपना भाई मानें और उनका साथ दें

LEAVE A REPLY