यूपीएससी ने सिविल सर्विसेज 2020 का रिजल्ट जारी कर दिया है. परीक्षा में 761 उम्मीदवार पास हुए हैं. शुभम कुमार ने टॉप किया है. वहीं, जागृति अवस्थी दूसरे और अंकिता जैन तीसरे स्थान पर रही हैं.

यूपीएससी ने सिविल सर्विसेज 2020 का रिजल्ट जारी कर दिया है. परीक्षा में 761 उम्मीदवार पास हुए हैं. शुभम कुमार ने टॉप किया है. वहीं, जागृति अवस्थी दूसरे और अंकिता जैन तीसरे स्थान पर रही हैं.

VDO.AI

परीक्षा में पास हुए 761 उम्मीदवारों में 545 पुरुष और 216 महिला अभ्यर्थी हैं.

टीना डाबी की बहन की 15वीं रैंक
2015 बैच की टॉपर और आईएएस अधिकारी टीना डाबी की बहन रिया डाबी भी इस परीक्षा में पास हुई हैं. रिया डाबी ने 15वां रैंक हासिल की है. टीना डाबी ने अपनी फेसबुक पोस्ट पर टॉपर्स की लिस्ट शेयर करते हुए यह जानकारी दी.

तीसरी बार में किया टॉप
शुभम ने आजतक से खास बातचीत में कहा, ”बहुत अच्छा महसूस कर रहा हूं. मैं कटिहार पटना का रहने वाला हूं.” शुभम 24 साल के हैं. उन्होंने तीसरे बार में टॉप किया है. इससे पहले उन्होंने 2018 और 2019 में भी परीक्षा दी थी. 2019 में उनकी 290 रैंक थी. अभी शुभम इंडियन डिफेंस अकाउंट सर्विस में ट्रेनिंग कर रहे हैं. शुभम के पिता ग्रामीण बैंक में मैनेजर हैं. शुभम के परिवार में माता, पिता, बहन, चाचा और चाची हैं.

टॉप की उम्मीद नहीं थी- शुभम
शुभम ने बताया कि उन्हें इस बार उम्मीद नहीं थी कि वे टॉप करेंगे. यहां तक की उन्होंने ये भी उम्मीद नहीं थी कि उनका नाम लिस्ट में होगा. शुभम ने बताया कि उन्होंने पूर्णिया से शुरुआती पढ़ाई की. इसके बाद उन्होंने बोकारो से 12वीं किया. ग्रेजुएशन बॉम्बे आईआईटी से सिविल इंजीनियरिंग की है. इंजीनियरिंग के साथ साथ शुभम ने तय कर लिया था कि उन्हें यूपीएससी की तैयारी करनी है. शुभम ने बताया कि उन्होंने इंजीनियरिंग पूरी होने के बाद ही इसकी तैयारी की.

शुभम ने कहा, समाज के लिए काम करने की इच्छा है. मैं बिहार में ही पला बढ़ा. यहीं से मुझे प्रेरणा मिली. ऐसे में आशा करूंगा कि मुझे बिहार कैडर मिले, तो यहां काम करने का मौका मिला. उन्होंने कहा, बिहार में काफी मौके हैं. पिछले 15 साल में बिहार में काफी बदलाव हुआ है.

केंद्रीय मंत्री डॉ जितेंद्र सिंह ने दी बधाई
UPSC सिविल सेवा परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले सभी उम्मीदवारों को बधाई. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सिविल सेवाओं को #NewIndia के लिए नई दिशाओं की ओर ले जाया जा रहा है. आज पास होने वाले युवाओं का अगले 25 साल तक सक्रिय सेवा में अहम योगदान है, ये युवा पीएम मोदी द्वारा परिकल्पित स्वतंत्र भारत के 100 साल के वास्तुकार होंगे.

LEAVE A REPLY