वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने ऐलान किया कि बैड बैंक की तरफ से बैंकों को जारी की जाने वाली सिक्योरिटी रिसीट को सरकारी गांरटी होगी.

नई दिल्ली. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने ऐलान किया है कि सरकार नेशनल एसेट रीकंस्ट्रक्शन कंपनी (NARCL) यानी बैड बैंक की तरफ से बैंकों को जारी होने वाली सिक्योरिटी रिसीट को गांरटी देगी. यह गारंटी 30,600 करोड़ रुपये की होगी. बता दें कि वित्त मंत्री ने इस साल के बजट में बैड बैंक की स्थापना को लेकर घोषणा की थी.

प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए वित्त मंत्री ने कहा कि पिछले छह सालों में 5 लाख करोड़ से ज्यादा रिकवरी की गई. मार्च 2018 से अब तक 3 लाख करोड़ से ज्यादा रिकवरी की गई. एक लाख करोड़ तो केवल राइट-ऑफ कर दिए गए लोन से रिकवरी हुई है. पिछले छह सालों में बैंकों के असेट में काफी सुधार आया है.

साल 2021 में केवल दो बैंकों को हुआ घाटा 
सीतारमण ने कहा कि सरकार द्वारा उठाए गए कदमों से बैंकों की वित्तीय हालत में काफी सुधार हुआ है. साल 2018 में सार्वजनिक क्षेत्र के 21 में से सिर्फ दो बैंक ही मुनाफे में थे लेकिन साल 2021 में केवल दो बैंकों को घाटा हुआ.

आईबीए को ‘बैड बैंक’ स्थापित करने का काम सौंपा गया है
उल्लेखनीय है कि भारतीय बैंक संघ यानी आईबीए (Indian Banks’ Association) को ‘बैड बैंक’ स्थापित करने का काम सौंपा गया है. प्रस्तावित बैड बैंक या एनएआरसीएल (National Asset Reconstruction Co. Ltd) लोन के लिए सहमत मूल्य का 15 फीसदी नकद में भुगतान करेगा और बाकी 85 फीसदी सरकार की गारंटी वाली सिक्योरिटी रिसीट्स में होगा. पिछले महीने आईबीए ने एनएआरसीएल की स्थापना के लिए लाइसेंस हासिल करने के उद्देश्य से आरबीआई के पास आवेदन दिया था.

LEAVE A REPLY