पाकिस्तान सेना (Pakistani Army) की ओर से जारी बयान के मुताबिक, जनरल बाजवा चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) की स्थापना की 94वीं वर्षगांठ के अवसर पर पाकिस्तानी सेना द्वारा आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे.

इस्लामाबाद. पाकिस्तानी सेना (Pakistani Army) के प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा (Qamar Javed Bajwa) ने गुरुवार को कहा कि बदलते सुरक्षा परिवेश में क्षेत्रीय शांति व स्थिरता के लिए पाकिस्तान और चीन (China) के बीच साझेदारी तेजी से अहम होती जा रही है. उन्होंने साथ ही इस बात पर जोर दिया कि दोनों देशों की सेना ‘एकजुट’ होकर अपने साझा हितों की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध हैं.

पाकिस्तान सेना की ओर से जारी बयान के मुताबिक, जनरल बाजवा चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) की स्थापना की 94वीं वर्षगांठ के अवसर पर पाकिस्तानी सेना द्वारा आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे.

उन्होंने कहा, ‘हमारा अतीत और वर्तमान इस बात की गवाही देता है कि हम चुनौतियों के सामने कभी हार नहीं मानते. पीएलए और पाकिस्तानी सेना आपस में जुड़े हुई हैं और हमारे संबंध अपने साझा हितों की रक्षा के लिए योगदान देना जारी रखेंगे.’

कार्यक्रम का आयोजन पाकिस्तानी सेना ने किया था. कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, “हमारा अतीत और वर्तमान इस बात की गवाही देता है कि हम चुनौतियों के सामने कभी हार नहीं मानते. पीएलए और पाकिस्तानी सेना आपस में जुड़ी हुई हैं और हमारे संबंध अपने साझा हितों की रक्षा के लिए योगदान देना जारी रखेंगे.”

दोनों देशों के बीच गहरे संबंधों के विभिन्न पहलूओं को स्पष्ट करते हुए बाजवा ने कहा कि पाकिस्तान-चीन की साझेदारी अनोखी और मजबूत है और चुनौतियों के समय ये साबित हुआ है.

उन्होंने चीन की सुरक्षा और राष्ट्र निर्माण में पीपुल्स लिबरेशन आर्मी की भूमिका की सराहना की. कार्यक्रम के दौरान पाकिस्तान में चीन के राजदूत और चीनी दूतावास के दूसरे अधिकारी भी मौजूद रहे. कार्यक्रम में चीन के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि चीन और पाकिस्तान रणनीतिक साझेदार और मजबूत साथी हैं. दुनिया की स्थिति में कैसा भी बदलाव आए, हम हमेशा अपनी राष्ट्रीय संप्रभुता, क्षेत्रीय अखंडता, क्षेत्रीय शांति और स्थिरता की सुरक्षा को बनाने में हमेशा साथ रहेंगे. (एजेंसी इनपुट के साथ)

LEAVE A REPLY