आज ही के दिन भारत सरकार ने साल 2020 में 59 चीनी ऐप्स (Chinese app) पर बैन लगाया था जिसमें शॉर्ट वीडियो ऐप्स के साथ लाइव स्ट्रीमिंग और अन्य कई कैटेगरी के ऐप्स शामिल थे.

नई दिल्ली. आज ही के दिन भारत सरकार ने साल 2020 में 59 चीनी ऐप्स (Chinese app) पर बैन लगाया था जिसमें शॉर्ट वीडियो ऐप्स के साथ लाइव स्ट्रीमिंग और अन्य कई कैटेगरी के ऐप्स शामिल थे. इसमें सबसे पॉपुलर ऐप Tiktok, Likee और Vigo ऐप भी शामिल थे. चीनी ऐप्स के बैन होने पर कई इंडियन शॉर्ट वीडियो ऐप्स विकल्प के तौर पर सामने आए. इसमें शेयरचैट का Moj ऐप, MX player का MX Takatak मुख्य हैं. वहीं, कुछ अन्य कंपनियां भी इस मौके का फायदा उठा कर यूजर बेस हासिल करने में लग गईं. इसमें शेयरचैट, डेलीहंट, MXPlayer, Gaana और Zee5 ने मेड-इन-इंडिया ऐप लॉन्च की.

भारतीय प्लेटफॉर्म्स के सामने कई मुश्किलें
भारतीय मार्केट पूरी तरह से प्रतिद्वंदी ब्रांड्स में बंटा हुआ है. इन कंपनियों के पास बहुत बेहतर इनोवेशन और यूजर-एक्सपीरियंस नहीं है. हालांकि इंस्टाग्राम रील्स में यह खास है कि इसकी रीच ग्लोबल है लेकिन यह पैसों की कमाई के लिहाज से टिकटाॅक के मुकाबले कुछ भी नहीं है. यही सब वजह है कि यूजर्स आज भी TikTok को मिस कर रहे हैं.

भारत में TikTok के 200 मिलियन से ज्यादा यूजर्स
पूरी दुनिया में सबसे पॉपुलर ऐप्स में से एक TikTok है. अेकेल भारत में इसका यूजर बेस 200 मिलियन से ज्यादा था. इसके साथ Likee और Bytedance के स्वामित्व वाली Vigo के पास भी एक बड़ा यूजर बेस था. वहीं अगर भारतीय ऐप्स के मंथली एक्टिव यूजर्स की बात की जाए तो Moj के पास 120 मिलियन, डेलीहंट के Josh के पास 85 मिलियन से ज्यादा, MXtakatak के पास 70 मिलियन, gaana के हॉटशॉट्स के पास 185 मिलियन, ट्रेल के पास 25 मिलियन से ज्यादा, चिंगारी के पास 20 मिलियन से ज्यादा, रोपोसो के पास 33 मिलियन और मित्रों के पास 20 मिलियन यूजर हैं.

LEAVE A REPLY