कांग्रेस ने आरोप लगाया कि सरकार ने कोरोना रोधी टीकाकरण अभियान को लेकर सही से तैयारी नहीं की जिस कारण टीके की कमी होने या इनके खराब हो जाने की खबरें आ रही हैं.

नई दिल्ली. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने देश के सभी नागरिकों के लिए कोरोना के टीके (Anti Coronavirus Vaccine) की पैरवी करते हुए बुधवार को कहा कि इस टीके की जरूरत को लेकर बहस करना हास्यास्पद है तथा हर भारतीय सुरक्षित जीवन का मौका पाने का हकदार है. उन्होंने ‘कोविड वैक्सीन’ हैशटैग से ट्वीट किया, ‘जरूरत और मर्जी को लेकर बहस करना हास्यास्पद है. हर भारतीय सुरक्षित जीवन का मौका पाने का हकदार है.’ गौरतलब है कि पूरे देश में कोरोना वायरस के खिलाफ चल रहे टीकाकरण अभियान के तहत 45 साल से अधिक उम्र के लोग टीका लगवा सकते हैं.

इस बीच, राहुल गांधी ने इंस्टाग्राम पोस्ट में कहा, ‘महामारी के खिलाफ लड़ाई में स्वास्थ्यकर्मी हमारे योद्धा हैं. मैं नागरिकों की रक्षा करने की उनकी प्रतिबद्धता, साहस और समर्पण के लिए उनको सलाम करता हूं. मैं त्याग के लिए उनके परिवारों का भी आभार व्यक्त करता हूं.’ उन्होंने लोगों का आह्वान किया, ‘इस वायरस को नियंत्रित करने के लिए देश के नागरिक के तौर पर हमें अपने हिस्से की भूमिका निभानी होगी. हम मास्क लगाएं और दूसरे सभी प्रोटोकॉल का पालन करें.’

कांग्रेस ने सरकार पर टीकाकरण की तैयारी सहीं नहीं करने का आरोप लगाया
दूसरी ओर कांग्रेस ने बुधवार को आरोप लगाया कि सरकार ने कोरोना वायरस के खिलाफ टीकाकरण अभियान को लेकर सही से तैयारी नहीं की जिस कारण आज टीके की कमी होने या इनके खराब हो जाने की खबरें आ रही हैं. पार्टी प्रवक्ता पवन खेड़ा ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को समय-समय पर सर्वदलीय बैठक बुलानी चाहिए ताकि कोरोना वायरस के खिलाफ मिलकर लड़ाई लड़ी जा सके.

उन्होंने कहा, ‘कोरोना के 1,15,736 नए मामले आए हैं. यह दूसरी लहर कहीं ज्यादा भयावह साबित हो रही है. हम नए मामलों की संख्या में अमेरिका और ब्राजील से आगे हैं, लेकिन टीकाकरण में उनसे पीछे हैं. यह दूसरी लहर कब सुनामी बन जाए, हमें पता नहीं. इस बारे में सोचना होगा.’ खेड़ा ने सवाल किया, ‘हम सरकार से जानना चाहते हैं कि हमने तैयारी क्यों ठीक नहीं की? कितने लोगों को टीका लगाना है, इस बारे में पहले क्यों तय नहीं किया गया?’

कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया, ‘जगह जगह से ऐसी खबरें आ रही हैं कि टीके की कमी हो रही है और टीके खराब भी हो रहे हैं. इसका सीधा मतलब है कि सरकार ने सही से तैयारी नहीं की.’ कांग्रेस नेता के मुताबिक, मास्क नहीं पहनने को लेकर कई जगहों पर पुलिस बर्बरता दिखा रही है. क्या कोरोना संबंधी प्रोटोकॉल का पालन करवाने का यह तरीका है? मास्क पहनने को लेकर जागरुकता फैलाने का प्रयास किया जाए.

खेड़ा ने इस बात पर जोर दिया, ‘आप कार में हों या सरकार में हों, सबको यह संदेश देना होगा कि आप मास्क लगाइए.’ खेड़ा ने यह भी कहा, ‘प्रधानमंत्री जी आप कोरोना को लेकर सर्वदलीय बैठक बार-बार बुलाया करें ताकि इस समस्या को लेकर मिलकर काम करिए. आज मिलकर लड़ाई लड़ने का समय है. कांग्रेस और राहुल गांधी आपके साथ कंधे से कंधा मिलकर खड़े रहेंगे.’ उन्होंने यह भी कहा कि सरकार को आम लोगों के मन से टीके को लेकर जुड़ी भ्रांतियों या आशंकाओं को दूर करने के साथ ही टीका निर्माता कंपनियों के सामने खड़ी धन की समस्या का निराकरण भी करना चाहिए.

LEAVE A REPLY