मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव विनी महाजन (Chief Secretary Vini Mahajan) को निर्देश दिए कि एक व्यापक जन चेतना मुहिम चलाई जाए और लोगों को शुरुआती दौर में ही अस्पतालों में जांच के लिए जाने के लिए प्रेरित किया जाए.

चंडीगढ़. पंजाब में बढ़ते हुए कोविड (Covid-19) के मामलों और मृत्यु दर को देखते हुए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) ने बुधवार को स्वास्थ्य विभाग के लिए प्रतिदिन 2 लाख लोगों का टीकाकरण (Vaccination drive) करने का टारगेट फिक्स किया है. उन्होंने एक मरीज के संपर्क में आए 30 लोगों के टेस्ट भी सुनिश्चित करने के आदेश दिए हैं. इसके साथ ही राज्य में 50 हजार लोगों की सैंपलिंग भी अनिवार्य कर दी गई है.

स्वास्थ्य विभाग (Health Department) के अधिकारियों और मेडिकल विशेषज्ञों (Medical experts) के साथ साप्ताहिक कोविड समीक्षा मीटिंग की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि मौजूदा टीकाकरण मुहिम के अंतर्गत रोजाना लगभग 90,000 लोगों को टीके लगाए जा रहे हैं, परंतु इसको रोजाना 2 लाख लोगों तक पहुंचाने की जरूरत है. उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिए कि इस मुहिम को और तेज करने के लिए तुरंत कदम उठाए जाएं, क्योंकि टीकाकरण कोरोना के फैलाव को रोकने का एकमात्र जरिया है.

मुख्य सचिव को दिए दिशा निर्देश
मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव विनी महाजन (Chief Secretary Vini Mahajan) को निर्देश दिए कि एक व्यापक जन चेतना मुहिम चलाई जाए और लोगों को शुरुआती दौर में ही अस्पतालों में जांच के लिए जाने के लिए प्रेरित किया जाए. उन्होंने कहा कि अस्पतालों में स्वास्थ्य संबंधी सुविधाओं की गुणवत्ता में सुधार किए जाने की भी जरूरत है और जरूरी सुविधाओं वाले स्वीकृत अस्पतालों की सूची भी सार्वजनिक कर दी जानी चाहिए. स्वास्थ्य विभाग द्वारा मुख्यमंत्री को सूचित किया गया था कि पीजीआई चंडीगढ़ द्वारा पंजाब के मरीजों को सही माध्यम द्वारा रैफर किए जाने के बावजूद दाखिल करने से इनकार किया जा रहा है, इस पर कार्रवाई करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि वह गुरुवार की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग मीटिंग में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narender Modi) के पास यह मामला उठाएंगे.
टीकाकरण की आयु 18 साल करने की मांग

उन्होंने कहा कि वह फिर केंद्र सरकार से अपील करेंगे कि वह उन क्षेत्रों में 45 साल से कम उम्र के लोगों को टीका लगवाने की छूट दें, जिन क्षेत्रों में कोविड के पॉजिटिव मामलों की संख्या सप्ताह में दोगुनी हो रही है.

उन्होंने अपनी मांग को दोहराया कि केंद्र सरकार को 18 साल से अधिक उम्र के विद्यार्थियों, अध्यापकों, काउंसलरों, सरपंचों आदि को टीके लगाने की अनुमति देनी चाहिए. कोविड टीकों की आपूर्ति के संबंध में मुख्य सचिव विनी महाजन ने मुख्यमंत्री को बताया कि केंद्र सरकार ने भरोसा दिया है कि राज्य को टीके की आपूर्ति संबंधी किसी किस्म की कमी का सामना नहीं करना पड़ेगा.

LEAVE A REPLY