Kerala Assembly Election: ई श्रीधरन (E Sreedharan) ने पहले भी राज्य में सीएम पद की इच्छा जताई थी. खास बात है कि वाम दल के शासन वाले राज्य में बीजेपी श्रीधरन की मदद से दक्षिण भारतीय प्रदेश में एंट्री की कोशिश कर रही है. राज्य में 140 सीटों पर चुनाव होने हैं.
तिरुवनंतपुरम. केरल विधानसभा चुनाव (Kerala Elections) से पहले बड़ी खबर है. हाल ही में राजनीति में आए ‘मेट्रो मैन’ (Metro Man) ई श्रीधरन राज्य में भारतीय जनता पार्टी (BJP) का मुख्यमंत्री चेहरा होने जा रहे हैं. उन्होंने बीती 25 फरवरी को बीजेपी की सदस्यता ली है. गुरुवार को उन्होंने कहा कि वे दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन यानि DMRC से इस्तीफा देने के बाद ही चुनाव नामांकन दाखिल करेंगे. पार्टी में उनके शामिल होने के साथ ही सीएम पद के कयास लगाए जाने लगे थे.

देश भर में मेट्रो मैन के नाम से मशहूर ई श्रीधरन केरल में मुख्यमंत्री पद का चेहरा होंगे. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष के सुरेंद्रन ने इसकी घोषणा की है. वे फिलहाल पूरे राज्य में राजनीतिक दौर पर हैं. उन्होंने कहा ‘पार्टी जल्द ही दूसरे उम्मीदवारों की सूची भी जारी करेगी.’ गुरुवार को श्रीधरन ने कहा कि उन्होंने अभी तक सीट का फैसला नहीं किया है। वे कहते हैं ‘मैं किसी भी सीट से लड़ने के लिए तैयार हूं, मेरी जीत पक्की है। मुझे पक्का भरोसा है कि बीजेपी सत्ता में आएगी।’ उन्होंने कहा ‘मैं ऐसी सीट से चुनाव लड़ना चाहता हूं, जो मलप्पुरम में पोनानी से दूर न हो। जहां मैं रहता हूं।’

उन्होंने पहले भी राज्य में सीएम पद की इच्छा जताई थी. खास बात है कि वाम दल के शासन वाले राज्य में बीजेपी श्रीधरन की मदद से दक्षिण भारतीय प्रदेश में एंट्री की कोशिश कर रही है. राज्य में 140 सीटों पर चुनाव होने हैं.

‘वर्दी में आखिरी दिन’
श्रीधरन ने ऐलान कर दिया है कि डीएमआरसी की वर्दी में गुरुवार को उनका आखिरी दिन है. उन्होंने चुनाव लड़ने का फैसला कर लिया है. सरकार ने श्रीधरन को पलरीवोट्टम फ्लायओवर प्रोजेक्ट का मुख्य सलाहकार नियुक्त किया था. इसे भी राजनीतिक रूप से काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा था. आखिरी निरीक्षण के बाद श्रीधरन ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि वे विधायक या दूसरे किसी पद पर रहते हुए प्रोजेक्ट की देखरेख करेंगे.

उन्होंने कहा ‘भले ही मैं आता हूं, मैं इस वर्दी में नहीं रहूंगा. यह तय हो कि मुझे इन प्रोजेक्ट्स की देखरेख करनी होगी.’ उन्होंने कहा ‘विधायक या दूसरा कोई भी पद हो, जब कम चल रहा होगा, तो मुझे जरूर देखरेख करनी पड़ेगी. मैं डीएमआरसी से इस्तीफा देने के बाद नॉमिनेशन दाखिल करूंगा.’ मेट्रो मैन ने कहा ‘यह आज आखिरी दिन है, जब मैं इस ड्रैस को पहना हूं. यह डीएमआरसी की वर्दी है.’ उन्होंने जानकारी दी कि उन्होंने पहली बार यह वर्दी नवंबर 1997 में पहनी थी.

LEAVE A REPLY