हरियाणा (Haryana) के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला (Deputy CM Dushyant Chautala ) ने प्रदेश में लव-जिहाद (Love-Jihad) के कानून का विरोध किया है. चौटाला ने कहा कि इस कानून के आने पर हम सरकार का साथ नहीं देंगे. लेकिन उन्होंने अपने बयान में एक बड़ी बात भी कही है.

चंडीगढ़. हरियाणा (Haryana) के उपमुख्यमंत्री दुष्यन्त चौटाला (Dushyant Chautala) ने प्रदेश में लव-जिहाद कानून बनाने के विरोध किया है. उन्होंने कहा कि लव-जिहाद (Love-jihad) नाम से प्रदेश में कोई कानून नहीं आएगा. अगर किसी भी धर्म विशेष को लेकर कोई कानून आएगा तो हम समर्थन नहीं करेंगे.

चौटाला ने कहा कि अगर एक धर्म से दूसरे धर्म मे जबरन धर्म परिवर्तन रोकने का कानून आएगा तो हम इसका समर्थन करेंगे, लेकिन किसी खास धर्म के लिए कानून का समर्थन नहीं करेंगे. दुष्यन्त चौटाला ने चंडीगढ़ में पार्टी के अल्पसंख्य प्रकोष्ठ की बैठक में यह बड़ा बयान दिया है. बता दें कि हाल ही में गृह मंत्री अनिल विज ने बजट सत्र में लव जिहाद कानून लाने का ऐलान किया था. इसके बाद से हरियाणा की सियासत को एक और मुद्दा मिलता हुआ नजर आ रहा है.

हरियाणा: गोलियों की तड़तड़ाहट से दहला सोनीपत, जिम में 3 युवकों को मारी गोली, हालत गंभीर
अब तक देश में बीजेपी शासित तीन राज्यों में अभी तक लव-जेहाद कानून लागू हो चुका है. इनमें उत्तर प्रदेश सरकार, हिमाचल प्रदेश और मध्य प्रदेश में लव जेहाद कानून लागू हो चुका है. मध्य प्रदेश की कैबिनेट ने “धार्मिक स्वतंत्रता विधेयक 2020” को एक अध्यादेश के तौर पर मंज़ूरी दी है. मध्य प्रदेश में इस कानून के बनते ही वो सभी शादियां अमान्य हो गई हैं, जो धर्म परिवर्तन के मकसद से की गई थीं.
बल्लभगढ़ मामले ने बटोरी थी सुर्खियां

हरियाणा के फरीदाबाद के बल्लभगढ़ में दूसरे धर्म के लड़के के द्वारा लड़की के अपहरण करने का प्रयास और उसकी हत्या करने के बाद इस मामले ने मीडिया में सुर्खियां बटोरी थीं. इस मामले को लेकर हरियाणा सरकार के गृहमंत्री अनिल विज ने कहा था कि बल्लभगढ़ मामले में लड़की के पिता ने कहा था कि उनकी बेटी ‘लव जिहाद’ का शिकार हुई. इसके बाद विज ने मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित की थी. तभी से हरियाणा में लव-जेहाद कानून की मांग हो रही है.

LEAVE A REPLY