West Bengal Assembly Election 2021: कैलाश विजयवर्गीय ने ममता बनर्जी के ‘खेला’ वाले बयान पर आपत्ति जताई है. साथ ही उन्‍होंने टीएमसी पर कई आरोप भी लगाए हैं.

कोलकाता. पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव (West Bengal Assembly Election) की तारीखों के ऐलान के बाद अब चुनाव प्रचार जोरों पर है. इस बीच पार्टियों में आरोप-प्रत्‍यारोप का दौर भी अपने चरम पर है. इसी कड़ी में गुरुवार को बीजेपी के नेताओं ने मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी के ‘खेला’ वाले बयान पर आपत्ति जताते हुए चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज कराई है.

इस पर बीजेपी के महासचिव और बंगाल बीजेपी के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने कहा, ‘हुबली में ममता बनर्जी ने कहा कि हम तो खेला करेंगे, खेला क्या होता है मतलब पोलिंग बूथ पर कब्जा, मतदाताओं को डराना, निष्पक्ष चुनाव न होना. ये सब खेला करने की कोशिश टीएमसी करना चाहती है और इसी बात को ध्यान में रखते हुए हमने सारी जानकारियों से चुनाव आयोग को अवगत कराया.’

बंगाल चुनाव में नहीं उतरेगी शिवसेना
राष्ट्रीय जनता दल और समाजवादी पार्टी के बाद शिवेसना ने तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी को गुरुवार को अपना समर्थन दिया और कहा कि वह पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेगी. ममता बनर्जी को ‘बंगाल की असली शेरनी’ बताते हुए शिवसेना ने तृणमूल कांग्रेस से एकजुटता दिखाने का संकल्प लिया. पार्टी ने पूर्व में कहा था कि वह राज्य में चुनावी मुकाबले में उतरेगी.

शिवसेना के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सदस्य संजय राउत ने एक ट्वीट कर इसकी घोषणा की और कहा कि पार्टी अध्यक्ष और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के साथ चर्चा के बाद यह फैसला किया गया. राउत ने कहा कि इस वक्त ‘दीदी बनाम अन्य सभी’ का मुकाबला प्रतीत हो रहा है.

LEAVE A REPLY