मोहम्मद सिराज ( Mohammad Siraj) ने इंग्लैंड के खिलाफ चौथे टेस्ट के पहले दिन बेन स्टोक्स (Ben Stokes) के साथ हुई कहासुनी की असल वजह बताई. उन्होंने कहा कि स्टोक्स ने उन्हें गाली दी थी. इसकी उन्होंने विराट कोहली को शिकायत की थी और फिर अंपायर ने इसे शांत कराया.

अहमदाबाद. भारत और इंग्लैंड (India vs England) के बीच अहमदाबाद में हो रहे सीरीज के चौथे टेस्ट में भी इंग्लैंड की बल्लेबाज फ्लॉप रहे. टॉस जीतने के बाद पहले बल्लेबाजी करने उतरी इंग्लैंड टीम पहली पारी में 205 रन पर ही ऑल आउट हो गई. भारत के लिए स्पिनर अक्षऱ पटेल (Axar Patel) और रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) के साथ तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज (Mohammad Siraj) ने भी अच्छी गेंदबाजी की. सिराज ने इंग्लैंड के कप्तान जो रूट(5) और जॉनी बेयरस्टो (28) के विकेट झटके. सिराज ने अपनी अंदर आती गेंदों से इंग्लैंड के सभी बल्लेबाजों को परेशान किया.

मैच के दौरान सिराज और इंग्लैंड के बल्लेबाज बेन स्टोक्स (Ben Stokes) के बीच विवाद हो गया था. इसके बाद कप्तान विराट कोहली स्टोक्स के पास गए थे और दोनों के बीच काफी देर तक बहस होती रही. दोनों के बीच कहासुनी होते देख अंपायर आए और किसी तरह इस विवाद को शांत कराया. पहले दिन का खेल खत्म होने के बाद जब सिराज से इस विवाद की असल वजह पूछी गई तो उन्होंने इसका खुलासा किया. सिराज ने बताया कि स्टोक्स ने मुझे गाली दी थी. इसके बाद मैंने कप्तान कोहली से उनकी शिकायत की. इसके बाद उन्होंने स्टोक्स से बात की और ये पूरा मामला तूल पकड़ा. हालांकि, अंपायर ने विवाद शांत करा दिया. यह वाकया इंग्लैंड की पारी के 13वें ओवर के बाद हुआ था.

मेरा प्लान सटीक लाइन लेंथ से गेंदबाजी करना था: सिराज
सिराज ने मैच के बाद अपनी गेंदबाजी को लेकर भी बात की. उन्होंने बताया कि ये विकेट बल्लेबाजी के लिए अच्छा नजर आ रहा था. मेरा प्लान सिर्फ यही था कि मैं संयम रखूं और सही लाइन लेंथ से गेंदबाजी करते रहूं. विराट भाई ने मुझे कहा था कि हमारे पास दो तेज गेंदबाज हैं. इसलिए रोटेशन करना होगा.  शुरू में दो ओवर गेंदबाजी करने के बाद उन्होंने मेरा छोर बदल दिया और फिर मैं उस एंड से गेंदबाजी करने लगा जहां से इशांत बॉलिंग कर रहे थे. इस छोर से मुझे अतिरिक्त उछाल के साथ ही स्विंग भी मिल रहा था जिसका मैंने फायदा उठाया.
सिराज से जब पूछा गया कि वह हर एक गेंद पर पूरा जोर लगाते दिखते हैं तो उन्होंने कहा कि जब मैं ऑस्ट्रेलिया में खेल रहा था तब भी ऐसा कर रहा था और यहां भी मेरी कोशिश हर गेंद पर अपना सौ फीसदी देने की है. अगर मैं ऐसा नहीं करूंगा तो विपक्षी टीम पर दबाव लगातार बना रहेगा.

मांजरेकर ने भी सिराज की तारीफ की
बता दें कि पहले दिन जिस तरह सिराज ने इंग्लिश कप्तान रूट को आउट किया था. उसकी भी पूर्व दिग्गज बहुत तारीफ कर रहे हैं. पूर्व भारतीय बल्लेबाज संजय मांजरेकर ने मैच के दौरान ही ईएसपीएन क्रिकइंफो से बातचीत के दौरान सिराज के रूट को आउट करने के प्लान के बारे में बताया गया था. उन्होंने बताया था कि जिस गेंद पर रूट आउट हुए थे वो एकदम ऊपर की ओर थी. पारी की शुरुआत में हमेशा ही बल्लेबाज कमजोर रहते हैं, चाहे वो जो रूट या फिर हाशिम आमला ही क्यों न हों? अगर आप उनको गेंद थोड़ा सा फुल रखने की कोशिश करेंगे और गेंद हरकत करती है तो आपके पास ऐसे बल्लेबाजों को जल्दी आउट करने का मौका होता है. सिराज ने ऐसा ही किया और उन्हें सफलता मिली.

सिराज का ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज जीत में अहम रोल था
सिराज ने भले ही 4 टेस्ट खेले हैं. लेकिन वो टीम के स्ट्राइक गेंदबाज के रूप में उभर रहे हैं. उन्होंने पिछले ऑस्ट्रेलिया दौरे पर भी ये साबित किया था. जब मोहम्मद शमी और दूसरे सीनियर गेंदबाजों की गैरहाजिरी में बिस्बेन टेस्ट में शानदार गेंदबाजी की थी. तब उन्होंने दूसरी पारी में पांच विकेट लेते हुए टीम को जीत दिलाई थी. उस सीरीज में सिराज ने 3 टेस्ट में 13 विकेट लिए थे और भारत की ओर से सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज भी थे.

LEAVE A REPLY