राजनाथ सिंह ने कहा, ‘हमने यह पोर्टल शुरू किया है ताकि लोगों को बार-बार सरकारी कार्यालयों के चक्कर नहीं काटने पड़े.’

नई दिल्ली. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को एक ई-छावनी पोर्टल की शुरुआत की जो देशभर के 62 छावनी बोर्डों के निवासियों को नगरपालिका संबंधी सेवाएं ऑनलाइन प्रदान करेगा. इस मौके पर राजनाथ सिंह ने कहा, ‘इस पोर्टल की मदद से, लोग व्यापार लाइसेंस जैसे सरकारी दस्तावेज प्राप्त कर सकेंगे और पानी के कनेक्शन जैसी सेवाओं के लिए आवेदन कर सकेंगे.’

रक्षा छावनी क्षेत्र में स्वास्थ्य, स्वच्छता, प्राथमिक शिक्षा आदि सार्वजनिक सेवाएं संबंधित छावनी बोर्ड द्वारा प्रदान की जाती हैं, जो रक्षा मंत्रालय के अंतर्गत एक नागरिक प्रशासन निकाय है. रक्षा मंत्री ने कहा, ‘मुझे भलीभांति पता है कि छावनी बोर्ड में रहने वाले लोगों को कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है … आप घर बैठे अपनी शिकायतें दर्ज करवा सकते हैं और इस पोर्टल की मदद से इनका समाधान पा सकते हैं.’ उन्होंने कहा, ‘सच यह है कि हमारी सरकार पूरी व्यवस्था को नागरिक-हितैषी बनाना चाहती है.’

पूरे भारत में 62 छावनी बोर्डों में लगभग 20 लाख लोग निवास करते हैं. मंत्री ने कहा, ‘हमने यह पोर्टल शुरू किया है ताकि लोगों को बार-बार सरकारी कार्यालयों के चक्कर नहीं काटने पड़े या अपनी समस्याओं के समाधान के लिए लाइन में खड़ा न होना पड़े.’ उन्होंने कहा कि पोर्टल सभी समस्याओं का हल नहीं है, लेकिन यह सुशासन की दिशा में एक प्रभावी और महत्वपूर्ण कदम है.

राजनाथ सिंह ने छावनी बोर्डों के अधिकारियों को यह भी सुझाव दिया कि उन्हें लोगों की प्रतिक्रिया लेनी चाहिए कि पोर्टल उनकी समस्याओं को हल करने में कितना कारगर साबित हो रहा है. उन्होंने कहा, ‘हमारी सरकार देश के सामाजिक-आर्थिक विकास के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास कर रही है. सरकार उस शासन संरचना को बेहतर बनाने का भी प्रयास कर रही है जो अब तक विद्यमान है. हमारे प्रधानमंत्री ने भी कहा है ‘न्यूनतम सरकार, अधिकतम शासन.’

LEAVE A REPLY