India vs England: चेन्नई टेस्ट में जीत के लिए इंग्लैंड को चौथी पारी में 482 रन बनाने होंगे. स्पिनरों की मददगार पिच पर इंग्लैंड के लिए यह लक्ष्य बिलकुल आसान नहीं है.

नई दिल्ली. चेन्नई टेस्ट में टीम इंडिया ने इंग्लैंड के सामने 482 रनों का लक्ष्य दिया. दूसरी पारी में भारतीय टीम रविचंद्रन अश्विन के शानदार शतक की बदौलत 286 रन बनाने में सफल रहा. अश्विन ने अपने करियर का 5वां शतक जड़ा और 106 रनों की बेहतरीन पारी खेली. उन्होंने पहली पारी में पांच विकेट लिए थे. इस तरह से उन्होंने एक मैच में शतक और पारी में पांच विकेट लेने का कारनामा तीसरी बार किया है. उनके अलावा कप्तान विराट कोहली ने 62 रनों की पारी खेली. इंग्लैंड की ओर से मोईन अली ने और जैक लीच ने चार-चार विकेट झटके. चार टेस्ट मैचों की सीरीज में इंग्लैंड पहला मुकाबला जीतकर 1-0 से आगे है. चेन्नई की इस मुश्किल पिच पर चौथी पारी में इतने बड़े लक्ष्य का पीछा करना नामुमकिन सा है. हालांकि भारतीय धरती में चौथी पारी में सबसे बड़े लक्ष्य का पीछा इसी मैदान पर हुआ है. साल 2008 में भारत ने इंग्लैंड के खिलाफ ही चार विकेट खोकर जीत के लिए जरूरी 387 रन बनाए थे.

इससे पहले भारत ने सुबह एक विकेट पर 54 रन से आगे खेलना शुरू किया और पहले सेशन में पांच विकेट गंवाने के साथ 102 रन भी जोड़े. इंग्लैंड ने सुबह भारत के विकेट निकालने में देर नहीं लगायी. चेतेश्वर पुजारा (सात) दिन के पहले ओवर में ही रन आउट हो गये. वह लीच की गेंद फ्लिक करने के लिये आगे आये लेकिन सही समय पर क्रीज पर नहीं पहुंच सके.

रोहित शर्मा (26) को बेन फॉक्स ने स्टंप आउट किया. फॉक्स ने विकेट के पीछे अपना अच्छा प्रदर्शन जारी रखा और ऋषभ पंत (आठ) को भी बड़ी खूबसूरती से स्टंप आउट करके जल्दी चलता किया. अजिंक्य रहाणे (10) ने मोईन अली की गेंद पर शार्ट लेग पर कैच देने से पहले दो अच्छे शॉट लगाए.

कोहली ने जड़ा 25वां अर्धशतक
इसके बाद अश्विन और विराट कोहली ने भारतीय पारी संभाला. दोनों के बीच सातवें विकेट के लिए 96 रनों की साझेदारी हुई. कोहली ने टिककर बल्लेबाजी की लेकिन इस बीच कुछ दर्शनीय ड्राइव लगाये. उन्होंने 107 गेंदों पर अपना 25वां टेस्ट अर्धशतक पूरा किया. अश्विन इसके कुछ देर बाद ओली स्टोन पर चौका जड़कर इस मुकाम पर पहुंचे. यह टेस्ट मैचों में उनका 12वां अर्धशतक है और कुल छठा अवसर है जबकि किसी टेस्ट मैच में उन्होंने पारी में पांच विकेट लेने के अलावा पारी में 50 से अधिक रन बनाये.

कोहली की शानदार पारी का अंत मोईन ने किया. उनकी पगबाधा की सफल अपील पर कोहली ने रिव्यू भी लिया लेकिन फैसला भारतीय कप्तान के खिलाफ ही गया. कोहली ने 149 गेंदें खेली तथा सात चौके लगाये. मोईन ने कोहली को कुल पांचवीं और मैच में दूसरी बार आउट किया. मोईन ने इसके बाद कुलदीप यादव (तीन) को भी पगबाधा आउट किया. भारत का आखिरी विकेट अश्विन के रूप में गिरा जिन्हें ओली स्टोन ने आउट किया.

LEAVE A REPLY