FM Nirmala Sitharaman Exclusive Interview LIVE Updates: वित्त वर्ष 2021-22 का आम बजट पेश करने के बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण न्यूज 18 नेटवर्क समूह (News18 Network) के एडिटर इन चीफ राहुल जोशी (Rahul Joshi) के साथ खास बातचीत कर रही हैं. यहां पढ़ें लाइव अपडेट्स…

 माँग को बढ़ाना ज़रूरी था, खर्च के साथ माँग बढ़ेगी’ -निर्मला सीतारमण, वित्त मंत्री

 वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि निजीकरण से बैंकों का फायदा होगा और बैंकों का कामकाज सुधरेगा
 वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते ज्यादा संसाधन नहीं थे, ऐसे में राहत पैकेज समय की मांग थी.
 निर्मला सीतारमण ने कहा आशा है कि केंद्रीय बजट का इरादा अच्छी तरह से समझा गया है. हम चाहते हैं कि देश इस बजट को स्वीकार करे.
 वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट 2021-22 को लेकर कहा कि खर्च के साथ मांग बढ़ेगी.
 वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि फाइनेंशियल सेक्टर के लिए हम कई प्रोग्रेसिव प्रस्ताव लेकर आए हैं जैसे एलआई का आईपीओ, इंश्योरेंस सेक्टर में एफडीआई को बढ़ावा आदि
 वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि फाइनेंशियल सेक्टर के लिए हम कई प्रोग्रेसिव प्रस्ताव लेकर आए हैं जैसे एलआई का आईपीओ, इंश्योरेंस सेक्टर में एफडीआई को बढ़ावा आदि

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि  बजट में बुनियादी सुविधाओं को आगे बढ़ाने और स्वास्थ्य सुविधाओं को मजबूत करने का ध्यान रखा गया है.

 वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण वित्त वर्ष 2021-22 का आम बजट पेश करने के बाद न्यूज 18 नेटवर्क समूह (News18 Network) के एडिटर इन चीफ राहुल जोशी (Rahul Joshi) के साथ खास बातचीत कर रही हैं. इस खास बातचीत में वित्तमंत्री बजट के उन खास और अनछुए पहलुओं पर बातचीत कर रही हैं जो देश की आम जनता को प्रभावित करेगा. बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि कोविड-19 महामारी का मुकाबला करने के लिए सरकार के 27.1 लाख करोड़ रुपये के आत्मनिर्भर भारत पैकेज से संरचनात्मक सुधारों को बढ़ावा मिला है.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि सरकार अगले वित्त वर्ष 2021-22 में करीब 12 लाख करोड़ रुपये का कर्ज जुटाएगी. सोमवार को लोकसभा में आम बजट 2021-22 पेश करते हुए सीतारमण ने कहा कि अगले वित्त वर्ष में सरकार का व्यय 34.83 लाख करोड़ रुपये रहने का अनुमान है. इनमें 5.54 लाख करोड़ रुपये का पूंजीगत व्यय है. सीतारमण ने आम बजट पेश करते हुए 2021-22 में पूंजीगत व्यय बढ़ाकर 5.54 लाख करोड़ रुपये करने का प्रस्ताव किया है.

LEAVE A REPLY