COVID-19 Vaccine Diplomacy and India: विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कोरोना महामारी के दौरान भारत की मदद के लिए पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) को शुक्रिया कहा है। विश्व संगठन ने कहा कि इस मुसीबत की घड़ी में एकसाथ चलने से इस जानलेवा बीमारी से निजात मिल सकती है।

जेनेवा.कोरोना महामारी (Corona Pandemic) के दौरान पूरी दुनिया हलकान रही। लाखों लोगों को इस जानलेवा बीमारी ने मौत की नींद सुला दिया। पर वैज्ञानिकों की अथक मेहनत के बाद इस वायरस के खिलाफ कोविड-19 (COVID-19 Vaccine) बनी। भारत में ऑक्सफोर्ड एस्ट्राजेनेका की बनी वैक्सीन कोविशील्ड देश और विदेश में लोगों को दी जा रही है और अब विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने भी भारत की वैक्सीन डिप्लोमेसी की तारीफ की है।
WHO ने कहा- धन्यवाद भारत
WHO के महानिदेशक टेडरोस अदानोम गेब्रेयसस (Tedros Adhanom Ghebreyesus) ने भारत और पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की कोरोना से लड़ने के खिलाफ योगदान के लिए शुक्रिया कहा है। उन्होंने कहा कि इस मुसीबत के वक्त में अगर हम मिलकर आगे बढ़ें और अपनी जानकारी साझा करें तो इस जानलेवा वायरस को रोक सकते हैं तथा लोगों की जान बचा सकते हैं।

भारत ने ब्राजील को भेजे 20 लाख कोरोना वैक्सीन की खुराक
भारत ने कोरोना वैक्सी की 20 लाख डोज ब्राजील को भेजा है। वैक्सीन मिलने के बाद ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो काफी खुश हुए और इसकी तुलना हनुमान जी की संजीवनी से कर दी। उन्होंने हनुमान की संजीवनी ले जाते हुए तस्वीर ट्वीट कर पीएम मोदी का आभार जताया।

भूटान, नेपाल और बांग्लादेश को भी वैक्सीन का गिफ्ट
यही नहीं, भारत ने अपने करीबी पड़ोसी भूटान को भी कोविड वैक्सीन भेजा है। भारत ने कोविशील्ड वैक्सीन के करीब 1.5 लाख डोज भूटान को भेजे हैं। यही नहीं, भारत ने नेपाल और बांग्लादेश को भी वैक्सीन गिफ्ट किया है। भारत की दिलेरी के लिए नेपाल ने पीएम मोदी का शुक्रिया भी अदा किया था।

LEAVE A REPLY