सोशल मीडिया पर ‘वसुंधरा राजे समर्थक राजस्थान (मंच)’ सामने आने के बाद ‘सतीश पूनिया समर्थक मोर्चा’ भी सामने आ गया है जिसके बाद से प्रदेश में सियासी चर्चा तेज हो गई है. हालांकि राजस्थान प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया ने नाम से बने प्लेटफॉर्म को सोशल मीडिया की शरारत करार दिया है.

जयपुर

सोशल मीडिया पर ‘वसुंधरा राजे समर्थक राजस्थान (मंच)’ सामने आने के बाद ‘सतीश पूनिया समर्थक मोर्चा’ भी सामने आ गया है, जिसके बाद से प्रदेश में सियासी चर्चा तेज हो गई है. हालांकि राजस्थान प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया ने नाम से बने प्लेटफॉर्म को सोशल मीडिया की शरारत करार दिया है. उन्होंने कहा कि हम लोग भारतीय जनता पार्टी में एक बड़े बैनर के नीचे काम करते हैं, हमारे लिए मोदी जी का व्यक्तित्व, कृतित्व, भाजपा का झंडा एवं कमल का चुनाव चिन्ह अपने आप में पर्याप्त है.

उन्होंने आगे कहा कि इसलिए मुझे किसी तरीके के समर्थक मंच की आवश्यकता नहीं है. जो समर्थक सोशल मीडिया पर समर्थक के नाम से फर्जी मोर्चा बनाया उसकी जांच पड़ताल करवा रहा हूं, यह सोशल मीडिया की शरारत है इसलिए मैं इस तरीके के समर्थक मंच के पक्ष में नहीं हूं एवं सिरे से खारिज करता हूं.

रोचक बात यह है कि जहां एक तरफ राजस्थान प्रदेश अध्यक्ष ने साफ किया कि वह ऐसे किसी समर्थक मंच के पक्ष में नहीं है तो दूसरी तरफ पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने अब तक अपने नाम से बने समर्थक मंच को लेकर कोई बयान नहीं दिया है. राजस्थान में कांग्रेस के नेताओं ने रविवार को भाजपा पर जमकर तंज कसा.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने भाजपा के अंदर चल रही तथाकथित अंदरूनी कलह को लेकर कहा कि भाजपा ने राजस्थान में कांग्रेस को तोड़ने की कोशिश की पर पार्टी अब खुद टूट रही है. राजस्थान के कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने भाजपा को लेकर कहा कि भाजपा कई भागों में बटी हुई है. डोटासरा ने कहा कि आने वाले दिनों में भाजपा कई खंडों में बट जाएगी.

राजस्थान के कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि नरेंद्र मोदी और अमित शाह का अहंकार षड्यंत्र के तहत कांग्रेस की सरकार को नहीं गिरा सका पर यहां की भाजपा इकाई को आने वाले समय में विभाजित कर देगा. वसुंधरा राजे को छोड़कर राजस्थान के कई आला नेता कुछ दिन पहले भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मिले थे जिसके बाद से भाजपा में अंदरूनी कलह को लेकर अटकलें लग रही थी. राजस्थान के भाजपा नेतृत्व ने कहा कि पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व को वसुंधरा राजे के समर्थन में सोशल मीडिया पर चल रही कवायद के बारे में पता है.

राजस्थान कांग्रेस प्रभारी अजय माकन ने कहा कि भाजपा यहां पर सफल नहीं हो पाई और जब वो सफल नहीं हो पाई कांग्रेस को तोड़ने में अपने धन बल से, अपने शासन बल से तो खुद राजस्थान में भाजपा बिखर रही है. तो यह इसका सीधे-सीधे हर एक्शन का रिएक्शन होता है और जब यहां पर वे लोग खुद विफल हो गए तो उनकी अपनी पार्टी  टूट रही है.

LEAVE A REPLY