प्रकाश जावड़ेकर ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए पूछा कि क्या वह इसे बिहार चुनाव के लिए अपने घोषणापत्र में शामिल कर सकती है. उन्होंने राहुल गांधी पर भी हमला किया.

नई दिल्ली: कांग्रेस के सीनियर पी चिदंबरम ने शुक्रवार को कहा कि अनुच्छेद 370 के विशेष प्रावधान हटाने संबंधी सरकार के फैसलों को रद्द किया जाना चाहिए. इसको लेकर अब केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कांग्रेस पर निशाना साधा है. उन्होंने सवाल किया कि क्या कांग्रेस इसे बिहार चुनाव के घोषणापत्र में शामिल कर सकती है?

प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, “क्या कांग्रेस इसे बिहार चुनाव के घोषणापत्र में शामिल कर सकती है? वे जानते हैं कि अनुच्छेद 370 के हटाने के फैसले का देश की जनता ने स्वागत किया था.”

वहीं राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, “कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी अपने भाषणों में पाकिस्तान की तारीफ करते हैं. कोई भी विषय हो, वह पाकिस्तान और चीन की सराहना करना पसंद करते हैं. यह कांग्रेस पार्टी का दृष्टिकोण है.”

पी चिदंबरम ने क्या कहा था?

पी चिदंबरम ने शुक्रवार को ट्वीट करते हुए कहा था, “केंद्र सरकार को जम्मू कश्मीर की मुख्यधारा के दलों और लोगों को अलगाववादी या राष्ट्र विरोधी के रूप में देखना बंद करना चाहिए. कांग्रेस जम्मू-कश्मीर के लोगों की स्थिति और अधिकारों की बहाली के लिए भी दृढ़ है. मोदी सरकार द्वारा 5 अगस्त, 2019 को लिए गए मनमाने और असंवैधानिक फैसलों को रद्द किया जाना चाहिए.”

इसके साथ ही उन्होंने कहा था, “जम्मू-कश्मीर की मुख्यधारा की क्षेत्रीय पार्टियों का जम्मू, कश्मीर और लद्दाख के लोगों के अधिकारों को बहाल करने के लिए संवैधानिक लड़ाई लड़ने के लिए एक साथ आना एक ऐसा विकास है जिसका भारत के सभी लोगों द्वारा स्वागत किया जाना चाहिए.”

जेपी नड्डा ने भी साधा था निशाना

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी कांग्रेस पर निशाना साधा था. उन्होंने कहा कि भाजपा अध्यक्ष चूंकि कांग्रेस के पास सुशासन के एजेंडे पर बात करने के लिए कुछ नहीं है, इसलिए बिहार चुनाव से पहले वह ‘भारत को बांटो के गंदे हथकंडे’ पर वापस आ गई है. उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा, “ चूंकि कांग्रेस के पास सुशासन के एजेंडे पर बात करने को कुछ नहीं है, वे बिहार चुनाव से पहले ‘भारत को बांटो’ के गंदे हथकंडे पर वापस आ गए हैं. राहुल गांधी पाकिस्तान की प्रशंसा करते हैं और श्री चिदंबरम कहते हैं कि कांग्रेस अनुच्छेद-370 की वापसी चाहती है. शर्मनाक!’’

LEAVE A REPLY