बाराबंकी में 18 वर्षीय युवती के साथ रेप के बाद उसकी हत्‍या करने के मामले में पुलिस ने एक युवक को हिरासत में लिया है. गिरफ्त में आया युवक मृतका का रिश्तेदार है.

बाराबंकी: उत्तर प्रदेश में बाराबंकी जिले के सतरिख थाना क्षेत्र के एक गांव में 18 वर्षीय युवती के साथ रेप के बाद उसकी हत्‍या करने के मामले में पुलिस ने एक युवक को हिरासत में लिया है. पुलिस के अनुसार पोस्‍टमॉर्टम रिपोर्ट से पता चला है कि युवती का गला घोंटने से पहले उसके साथ बलात्‍कार किया गया था.

हत्या से पहले की गई दरिंदगी
बाराबंकी के प्रभारी अपर पुलिस अधीक्षक आरएस गौतम और जिलाधिकारी आदर्श सिंह ने पुलिस लाइन में पत्रकारों को बताया कि 14 अक्‍टूबर को एक युवती के साथ दुराचार के बाद उसकी हत्‍या कर दी गई थी. उन्होंने कहा कि पोस्‍टमॉर्टम रिपोर्ट से पता चला है कि युवती का गला घोंटने से पहले उसके साथ बलात्‍कार किया गया था.

आरोपी ने गुनाह स्‍वीकार किया
अपर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इस घटना में संदिग्‍धों की तलाश के लिए तीन टीमें लगाई गई थीं. डिजिटल साक्ष्‍य, छानबीन और सूचना के आधार पर पुलिस ने पिपरी टोला निवासी 19 वर्षीय दिनेश गौतम को पकड़ लिया. पूछताछ में दिनेश में ने गुनाह स्‍वीकार किया है. हिरासत में लिए गए गौतम से अन्‍य बिंदुओं पर भी पूछताछ की जा रही है. पुलिस टीम उससे मिली सूचनाओं का सत्‍यापन कर रही है. गौतम मृतका का रिश्तेदार है.

हाथ पीछे से मुड़े हुए थे
गौरतलब है कि, सतरिख थाने के एक गांव में रहने वाले व्‍यक्ति ने थाने में आकर बताया था कि गत 14 अक्टूबर लगभग शाम 4 बजे उसकी 18 वर्षीय पुत्री धान काटने गई थी. वो देर शाम तक नहीं लौटी तो वो उसे खोजने गया जहां खेत में उसकी लाश पड़ी मिली. ग्रामीणों का कहना था कि युवती के कपड़े अस्त-व्यस्त थे. हाथ पीछे से मुड़े हुए थे. लग रहा था जैसे हाथ पीछे से बांधे गए हों. शव की स्थिति को देखते हुए उसके साथ दुष्कर्म की आशंका जताई गई थी.

परिवार को दी जा रही है आर्थिक सहायता
जिलाधिकारी डॉ आदर्श सिंह ने बताया कि मृतका की उम्र के संबंध में प्राप्त कुछ दस्तावेजों के आधार पर ये सिद्ध हो रहा है कि उसकी उम्र 18 वर्ष से कम थी. अतः मामले में पॉक्सो एक्ट की सुसंगत धाराएं भी लगाई जा रही हैं. उनके अनुसार मृतका के परिवारजनों को उत्तर प्रदेश रानी लक्ष्मीबाई सम्मान कोष और अन्य मदों के अंतर्गत अनुमन्य आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है.

LEAVE A REPLY