यूपी में शुक्रवार को 31,277 शिक्षकों को नियुक्ति पत्र दिया गया. इस मौके पर सीएम योगी ने कहा कि बेसिक शिक्षा संपूर्ण शिक्षा की बुनियाद है. अगर बुनियाद बेहतर है तो उस पर बुलंद इमारत खड़ी की जा सकती है.

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के सहायक अध्यापकों का लंबा इंतजार खत्म हो गया है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को अपने सरकारी आवास, पांच कालीदास मार्ग पर 31,277 सहायक अध्यापकों को नियुक्ति पत्र वितरण कार्यक्रम का शुभारम्भ किया. उन्होंने पांच लाभार्थियों को अपने हाथ से नियुक्ति पत्र प्रदान किए. इस दौरान उन्होंने कहा कि, “बेसिक शिक्षा संपूर्ण शिक्षा की बुनियाद है. अगर बुनियाद बेहतर है तो उस पर बुलंद इमारत खड़ी की जा सकती है. ऐसे में बेसिक शिक्षा परिषद के नव नियुक्त सहायक शिक्षकों का फर्ज बढ़ जाता है. आप बच्चों के लिए शिक्षक के साथ उनके मित्र और मार्गदर्शक भी बनें. उनको शिक्षा के साथ बेहतर संस्कार भी दें. खुद को बच्चों के लिए रोलमॉडल और प्रेरक बनें. अगर आप ऐसा कर ले गये तो देश के भविष्य के निर्माण में आपकी महत्वपूर्ण भूमिका होगी. आप बचपन में इन बच्चों को जो भी सिखाएंगे उसे वह ताउम्र याद रखेंगे.”

पारदर्शिता से हुई नियुक्ति

मुख्यमंत्री ने कहा कि, “जो भी नियुक्ति हुई है, उसका आधार सिर्फ मैरिट है. शुचिता और पारदर्शिता के साथ नियुक्ति प्रक्रिया पूरी कर उत्तर प्रदेश ने अन्य राज्यों के समक्ष एक नजीर पेश की गई है.”

नवनियुक्त शिक्षकों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि, “आप लोग युवा हैं. स्वाभाविक है तकनीक से भी आपको लगाव होगा. पठन-पाठन में तकनीक का अधिकतम प्रयोग करें. नवाचार करें ताकि अधिक से अधिक बच्चे इन स्कूलों में आएं. साढ़े तीन साल में बेसिक स्कूलों में बुनियादी संरचना, शिक्षा की गुणवत्ता और स्कूल ड्रेस के लिहाज से बहुत कुछ बदला है. यही वजह है कि इस दौरान बच्चों की संख्या में करीब 50 लाख का इजाफा हुआ है. उम्मीद है कि आपकी लगन से यह सिलसिला आगे भी जारी रहेगा. अगले 100 दिन में सरकार सभी प्राइमरी स्कूलों में शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने को प्रतिबद्ध है. इस संबंध में कार्ययोजना तैयार हो गई है.”

नियुक्ति में बाधा डाली

मुख्यमंत्री ने कहा कि, “गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए हर प्राइमरी स्कूल में मानक के अनुसार शिक्षकों की नियुक्ति हमारी प्रतिबद्धता है. हम तो वर्ष 2019 में ही 69 हजार शिक्षकों की नियुक्ति करना चाहते थे, पर कुछ लोग जिनकी आदत ही बाधा डालना है, वे लोग मामले को कोर्ट में ले गये. यह नियुक्तियां सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के क्रम में हो रही हैं. आगे उसका निर्देश मिलते ही बाकी नियुक्तियां भी की जाएंगी.”

इससे पहले, कार्यक्रम के शुरूआत में बेसिक शिक्षा मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) सतीश चंद्र द्विवेदी ने सभी का स्वागत किया. विभाग की अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार ने आभार जताया. इस अवसर पर मुख्य सचिव आरके तिवारी, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री एसपी गोयल, अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल समेत शासन और विभाग के अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे.

LEAVE A REPLY