सरकारी संवाद एजेंसी ‘सऊदी प्रेस एजेंसी’ के हवाले से एक बयान में कहा गया कि रक्षा मंत्रालय में संदेहास्पद वित्तीय लेनदेन का पता चला है. हालांकि, इसकी विस्तृत जानकारी नहीं दी गई.

दुबई: यमन के साथ वर्षों से जारी जंग में सऊदी अरब के शीर्ष सैन्य कमांडर और उनके राजकुमार बेटे के साथ अन्य अधिकारियों को भ्रष्टाचार रोधी जांच के तहत उनके पदों से हटा दिया गया है. यह जानकारी सऊदी अरब ने मंगलवार को दी.

सऊदी अरब के वलीअहद 35 वर्षीय मोहम्मद बिन सलमान की अनुशंसा पर कार्रवाई की घोषणा की गई है जिन्होंने पहले भी इसी तरह से भ्रष्टाचार के मामले में बड़े पैमाने पर गिरफ्तारी के आदेश दिए थे. इसके जरिये उनकी सत्ता के संभावित प्रतिद्वंद्वियों को भी निशाना बनाया गया था.

सरकारी संवाद एजेंसी ‘सऊदी प्रेस एजेंसी’ के हवाले से एक बयान में कहा गया कि रक्षा मंत्रालय में संदेहास्पद वित्तीय लेनदेन का पता चला है. हालांकि, इसकी विस्तृत जानकारी नहीं दी गई.

बयान में कहा गया कि इसके मद्देनजर राज्य ने लेफ्टिनेंट जनरल फहद बिन तुर्की बिन अब्दुल अजीज को यमन में ईरान समर्थित हूती विद्रोहियों से लड़ रहे सऊदी नीत गठबंधन बलों से हटा दिया गया है. फहद शाही परिवार के सदस्य हैं.

प्रशासन ने उनके बेटे प्रिंस अब्दुलअजीज बिन फहद बिन तुर्की को भी अल जोउफ क्षेत्र के उप गर्वनर पद से हटा दिया है. बयान के मुताबिक 84 वर्षीय शाह सलमान के आदेश पर चार अन्य अधिकारियों के खिलाफ भी जांच की जा रही है. स्पष्ट नहीं है कि आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है या उन्हें वकील मुहैया कराए गए हैं.

LEAVE A REPLY