बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद उनकी एक्स गर्लफ्रेंड अंकिता लोखंडे ने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए एबीपी न्यूज़ के साथ Exclusive बातचीत की है.

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद उनकी एक्स गर्लफ्रेंड अंकिता लोखंडे ने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए एबीपी न्यूज़ के साथ Exclusive बातचीत की है. इस दौरान अंकिता ने अपने रिश्ते से लेकर सुशांत की पर्सनल लाइफ को लेकर कई बड़े खुलासे किए हैं. अंकिता का कहना है कि उन्हें पूरा भरोसा है कि सुशांत इतने कमजोर नहीं थे कि सुसाइड करें. अंकिता का कहना है कि कुछ उनके साथ बहुत बड़ा हो रहा था जिसे वो किसी से नहीं बता पा रहे थे.

 

ऐसे थे सुशांत सिंह राजपूत:

 

अंकिता लोखंडे ने एबीपी न्यूज़ के साथ बातचीत में अपनी सफलता का श्रेय सुशांत को देते हुए कहा है कि सुशांत ने उन्हें एक्टिंग सिखाई. उन्होंने कहा, “मेरी सफलता में सुशांत का बहुत बड़ा हाथ है. सुशांत सभी को बेहद मोटिवेट करता था. उसको डायरी लिखने की आदत थी. बहुत लिखता था वो. सुशांत का जिंदगी जीना का तरीका बहुत अलग था. बहुत खुश रहता था वो. किताबें और फिल्म खासकर हॉरर फिल्मे उसके बहुत पसंद थीं. बच्चा था सुशांत. वो बच्चों की तरह चॉकलेट्स खाता था. टॉकलेट की क्रेविंग होती थी उसको. खूब वर्कआउट करता था.”

 

सुसाइड नहीं कर सकता था

 

अंकिता ने कहा, “सुशांत ओवर डेडिकेटेड था. अपने सपनों की डायरी बनाता था. खुद को पांच साल बाद कहां देखना ये सब उसने डायरी में लिखा था.” इसके साथ ही डिप्रेशन के बारे में बात करते हुए अंकिता ने कहा, “सुशांत इतना कमजोर नहीं था कि वो सुसाइड कर ले. मुझे पूर भरोसा है कि वो सुसाइड नहीं सकता था. उसकी लाइफ में कुछ बड़ा हो रहा था जो हमें पता नही है. कुछ बहुत बड़ा हुआ होगा जिसके कारण वो हमारे बीच में नहीं है.”

 

परिवार के टच में नहीं थे सुशांत

 

अंकिता लोखंडे ने सुशांत और उनरे परिवार के बारे में बात करते हुए कहा, “सुशांत अपने परिवार के टच में भी नहीं था. उनके पापा और बहनों से ब्रेक अप के बाद भी मेरी बात होती थी. साल भर से सुशांत अपने परिवार के टच में नहीं था. पापा बताते थे कि सुशांत ने नंबर बदल लिया है. हमारे पास उसका नंबर नहीं है और बात भी नहीं हो पा रही है. मैं हैरान रह जाती थी कि ऐसा कैसे हो सकता है. सुशांत रानी दीदी से भी बात नहीं कर रहा था साल भर से. रानी दीदी वो थी जिन्हों मम्मी के बाद सुशांत को खूब प्यार दिया था. वो उनरी बहुत इज्जत करता था. यहां तक की उनके कहने पर बैठता उठता फिर ऐसा क्या हो गया था कि वो उनसे भी बात नही कर रहा था.”

 

अंकिता और सुशांत की आखिरी बातचीत

 

सुशांत कि साथ अपनी आखिरी बातचीत को लेकर अंकिता ने कहा, “मार्च 2016 में मेरी उनसे आखिरी बात बाच हुई थी.” इसके साथ ही अंकित ना सुशांत के साथ व्हॉट्सएप पर हुई बातचीत की खबरों को पूरी तरह से झूठ करार दिया. अंकिता ने बताया कि मणिकर्णिका के पोस्ट लॉन्च पर सुशांत ने उन्हें सोशल मीडिया पर कमेंट बॉक्स में बधाई दी थी. उन्होंने कहा, “मेरे पास सुशां का नंबर भी नहीं था. हालांकि सुशांत ने ही मुझे फिल्मे करने के लिए कहा था. वो कहता था तुम बहुत टैलेंटेड हो फिल्मों करो. मै थोड़ा आलसी थी मैं शादी करके सेटल होना चाहती थी.”

 

सुशांत के परिवार से अंकिता की आखिरी बातचीत

 

अंकित ने बताया कि रानी दीदी से मेरी आखिरी बार फरवरी 2020 में बात हुई थी. बागी के लिए बधाई देने के लिए उनका फोन आया था. वो बहुत खुश थी. वो बता रही थी कि साल भर बाद सुशांत से उनकी बात हुई वो चंढीगड़ आया था और रहा उनके साथ. काफी समय बाद उसने बर्थडे भी सेलिब्रेट किया था तो वो बहुत खुश थीं और जाने बाद सुशांत ने फिर से उनके साथ टच में रहना बंद कर दिया.”

 

सुशांत की हंसी चली गई थी

 

अंकित ने सुशांत के बारे में बात करते हुए कहा, “हमारे कॉमन फ्रेंडस की बातचीत भी बंद हो गई थीं. ब्रेकअप के बाद अक्सर सोशल मीडिया के जरिए उसकी लाइफ और डेटिंग का पता चलता रहता था. मैं भी काम में काफी बिजी रहता . वो अपनी लाइफ में बहुत था. ब्रेक अप के मैने उसकी जिंदगी में कभी दखल नहीं दिया. छिछोरा का भी उनका खूब अच्छे से प्रमोशन किया था. मुझे कही ना कही उसका जो चेहरा वो उदास लगता था. उसकी आंखों में एक चमक थी. उसकी पहले की फोटो और अब की फोटो में साफ है. मैं अपनी मम्मी से भी कहती कि सुशांत अगल दिखता है अब. वो जो उसकी स्माइल थी वो गायब हो गई है अब. खिल के हंसता था वो.”

 

रिया चक्रवर्ती की एफआईआर पर अंकिता लोखंडे ने कही ये बात

 

रिया चक्रवर्ती के खिलाफ सुशांत सिंह राजपूत के परिवार ने एफआईआर दर्ज कराई है. इसपर बात करते हुए अंकिता ने कहा, “मैं बस इतना ही कहना चाहूंगी कि हम सबसे बड़ा नुकसान उनका है. वो जो कर रहे हैं बहुत सोच समझ कर रहे हैं. उनके घर का राजकुमार कहीं चला गया है. उसकी डेथ हो चुकी है और परिवार कारण जानना चाहता है. उनके पास ऐसा तो कुछ होगा जिसके दम पर उन्होंने एफआईआर दर्ज की है. मुझे पूरा भरोसा है कि वो जो कर रहे हैं अपने लिए और सुशांत के लिए बिल्कुल सही कर रहे हैं. सच्चाई की जीत होती है. पापा ने FIR कराई है तो कुछ हो होगा ही. मैं जज नहीं हूं लेकिन मैं अपने परिवार के साथ हूं. जो सच है वो बाहर आए. हम जानना चाहते हैं सुशांत की डेथ क्यूं हुई और किसने की.”

 

नेपोटिज्म पर बोली अंकिता लोखेंडे

 

नेपोटिज्म एंगल पर बात करते हुए अंकिता ने कहा, “मेरे लिए नेपोटिज्म एक कॉम्पीटिशन की तरह है. ये फैक्ट है हर कोई अपने लोगों को आगे बढ़ाना चाहता है. सुशांत इतना कमजोर नहीं था कि नेपोटिज्म की वहज से अपने आप को खत्म करे. इतना बड़ा सफर तय करने के बाद इस कारण से वो ये नहीं करेगा.” अंकिता ने कहा, “सुशांत अपने आप को कभी हर्ट नही कर सकता है वो चाकू से भी खुद को नहीं काट सकता था. हल्की सी भी उसको चोट लग जाए को वो ऐसा हो जाता था कि अरे बार रे ये क्या हो गया. वो ऐसा नहीं कर सकता था.”

 

ये था सुशांत की लाइफ में सबसे जरूरी

 

अंकिता ने बताया कि सुशांत की लाइफ में सबसे जरूरी किताबें, उसकी पढ़ाई, उसका दिमाग सबसे ज्यादा जरूरी थी. उसके लिए पैसा बिल्कुल जरूरी नहीं था. पैसा सब खत्म हो जाता तो वो फिर से कमा लेता. मुझे पूरा भरोसा था और वो खुद भी बोलता था. पैसे को लाइफ में किसी पर न्यौछावर कर सकता था. वो कहता था कि अगर फिल्में नहीं होंगी तो मैं थिएटर कर लूंगा. उसको क्रिएटिविटी चाहिए थी. वो हमेशा बोलता था मजा आना बंद जाए तो वहीं रूक जाना चाहिए. टीवी छोड़कर वो फिल्मों में गया और अब वो साइंस की ओर से बढ़ रहा था.

LEAVE A REPLY