देश में कोरोना संक्रमण मामलों की संख्या 16 लाख के पार हो गई है. कोरोना पर आज ग्रुप ऑफ मिनिस्टर की बैठक हुई है. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई इस बैठक में स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन समेत अन्य अधिकारी शामिल हुए.

नई दिल्ली: शुक्रवार को कोरोना को लेकर बनी ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स की बैठक हुई है. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई इस बैठक में स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, विदेश मामलों के मंत्री डॉ. एस जयशंकर, नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी, केमिकल व फर्टिलाइजर मंत्री मनसुख मांडवीया और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय शामिल हुए. इनके साथ इन मंत्रालय के बड़े अधिकारी भी शामिल हुए है.

 

बैठक में स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने जानकारी दी

 

1- दुनिया के बाकी देशों के मुकाबले भारत में हालात काफी बेहतर.

 

2- भारत में 10 लाख से ज्यादा मरीज कोरोना संक्रमण से ठीक हो चुके हैं.

 

3- भारत में रिकवरी रेट यानी कोरोना संक्रमण से ठीक होने की दर 65.54% हो गई है.

 

4- वही देश में कुल मरीजों में से सिर्फ 33.27% एक्टिव केस है जिनका इलाज चल रहा है.

 

5- कोरोना संक्रमण की वजह से भारत में मृत्यु दर घट कर 2.18% हो गई है.

 

6- जिन मरीजों का इलाज चल रहा है उनमें से भी 0.28% मरीज वेंटीलेटर पर है, 1.61% मरीज आईसीयू सपोर्ट पर है और 2.32% मरीज ऑक्सीजन सपोर्ट पर है.

 

7- कोरोना संक्रमण की जांच करने के लिए 1331 लैब है जिनमें से 911 सरकारी और 420 निजी लैब है.

 

8- 30 जुलाई को भारत में रिकॉर्ड 6,42,588 सैंपल कोरोना की जांच के लिए गए.

 

9- अब तक भारत में 1.88 करोड से ज्यादा सैंपल की जांच हुई है.

 

इसके अलावा हेल्थकेयर लॉजिस्टिक्स के लिहाज से  कुल मिलाकर 268.25 लाख N95 मास्क, 120.40 लाख पीपीई किट और 1083.77 लाख एचसीक्यू टैबलेट राज्यों/संघ राज्य क्षेत्रों और केंद्रीय संस्थानों को दिए गए हैं. वहीं पीपीई, मास्क, वेंटिलेटर और एचसीक्यू जैसे ड्रग्स के निर्माण के लिए विभिन्न क्षेत्रों की घरेलू उत्पादन क्षमताओं में बढ़ोतरी के बारे में भी ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स को जानकारी दी गई.

 

नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल (एनसीडीसी) के डायरेक्टर एसके सिंह ने ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स को जानकारी दी कि भारत में लगातार करोना से ठीक होने की दर बढ़ रही है. इस वक्त भारत में कोरोना संक्रमण से ठीक होने की दर यानी रिकवरी रेट 65.54% है. सबसे ज्यादा रिकवरी रेट दिल्ली का है, जो की इस समय 89.08% है और इसके बाद हरियाणा का है 79.82%. वहीं सबसे कम रिकवरी रेट 39.36% कर्नाटक का है.

 

वहीं इस कंटेनमेंट जोन प्लान, एंटीजन टेस्ट, डोर तो डोर सर्च, आइसोलेशन फैसिलिटी, ट्रेसिंग और टेस्ट जैसी जानकारी दी गई.

LEAVE A REPLY