हालांकि लॉकडाउन खुलने के बाद देश में कार बिक्री अभी भी सामान्य से लगभग 25 फीसदी कम हैं. लेकिन कुछ मॉडल्स वेटिंग पीरियड 1 सप्ताह से लेकर 3 महीने तक का है.

नई दिल्ली: देश में ऑटोमोबाइल सेक्टर की बिक्री अभी पटरी पर लौटने में लंबा समय लग सकता है. लेकिन, इस बीच कुछ ऐसे कार मॉडल्स हैं, जिन्हें अगर आप खरीदना चाहते हैं तो आपको लंबा इंतज़ार करना पड़ सकता है.

 

लॉकडाउन खुलने के बाद देश में कार बिक्री अभी भी सामान्य से लगभग 25 फीसदी कम है लेकिन, बावजूद इसके कुछ मॉडल्स की मांग बाजार में ऐसी है कि अगर आपको ये कारें खरीदनी हैं तो आपको 1 सप्ताह से लेकर 3 महीने तक का इंतज़ार करना पड़ रहा है.

 

कारों पर यह वेटिंग पीरियड छोटी कारों यानी हैचबैक से लेकर लक्ज़री कारों तक में देखने को मिल रहा है. कारों का वेटिंग पीरियड विभिन्न वैरिएंट्स और कलर के मुताबिक डीलर के यहां कारों की उपलब्धता पर निर्भर कर रहा है.

 

बीते जून महीने के दौरान देश में पैसेंजर वाहनों की बिक्री जून 2019 के मुकाबले लगभग 25 फ़ीसदी कम रहने का अनुमान है. लॉकडाउन के चलते देश की सभी कार निर्माता कंपनियों का उत्पादन पूरी तरह से बंद रहा था. वहीं अप्रैल के दौरान देश में कारों की बिक्री शून्य रही थी. लेकिन बावजूद इसके कई कार निर्माता कंपनियों के ऐसे मॉडल्स हैं जिन्हें अगर आप खरीदना चाहते हैं तो इन पर काफी लंबी वेटिंग है. यानी कि अगर इन कारों को आप खरीदना चाहेंगे तो इसके लिए आपको लंबा इंतजार करना होगा.

 

देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी से लेकर महिंद्रा एंड महिंद्रा के कई मॉडल्स ऐसे हैं जिन्हें खरीदने के लिए आपको 1 सप्ताह से लेकर 3 महीने तक का इंतजार करना होगा. इसके अलावा लग्जरी कार निर्माता कंपनी मर्सिडीज की महंगी कार अगर आप खरीदना चाहते हैं तो भी आपको इंतजार करना होगा.

 

किस कार को खरीदने के लिए कितनी वेटिंग

 

मारुति बलेनो: 2 सप्ताह

 

मारुति स्विफ्ट: 2-3 सप्ताह

 

मारुति डिजायर: 1-2 सप्ताह

 

ह्युंडई क्रेटा: 1.5-2 महीने

 

ह्युंडई वेन्यू: 2-3 सप्ताह

 

किया सेलटॉस: 1-2 सप्ताह

 

महिंद्रा बोलेरो: 7-10 दिन

 

महिंद्रा स्कॉर्पियो: 7-15 दिन

 

महिंद्रा XUV 300: 7-10 दिन

 

मर्सेिडीज़ जीएलसी: 3 महीने

 

मर्सेिडीज़ जीएलई: 3 महीने

 

(नोट- वेटिंग पीरियड कलर, वैरिएंट और डीलर उपलब्धता पर निर्भर है)

 

लॉकडाउन के चलते कार कंपनियों का उत्पादन बुरी तरह से प्रभावित हुआ है. इसीलिए, देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी से लेकर हुंडई, महिंद्रा समेत जर्मन लक्ज़री कार कंपनी मर्सेिडीज़ के चुनिंदा मॉडल्स और वैरिएंट्स के लिए ग्राहकों को लंबा इंतज़ार करना पड़ रहा है.

 

कारों की वेटिंग के बारे में जब महिंद्रा एंड महिंद्रा के डीलर शिवा महिंद्रा के सीईओ गौरव गुप्ता ने  एबीपी न्यूज़ को बताया कि बोलेरो, स्कॉर्पियो और XUV 300 के चुनिंदा मॉडल्स के कलर और वैरिएंट्स के हिसाब से अलग-अलग वेटिंग पीरियड हैं. उन्होंने बताया कि स्कॉर्पियो में ब्लैक कलर की मांग सबसे ज़्यादा आ रही है. ब्लैक कलर की स्कॉर्पियो के टॉप एन्ड वैरिएंट्स पर 15 दिनों तक का वेटिंग पीरियड है. इसके अलावा महिंद्रा बोलेरो के कुछ वैरिएंट्स पर 7-10 दिन तक कि वेटिंग है. वहीं, XUV 300 के डीजल मॉडल पर 10 दिनों तक कि वेटिंग है.

 

गौरव गुप्ता ने बताया कि लॉकडाउन के चलते कंपनियों का उत्पादन प्रभावित हुआ है. इसलिए, समय पर मांग के हिसाब से सप्लाई में दिक्कत आ रही है. उन्होंने बताया कि कंपनी से जो बातचीत हुई है उसके मुताबिक अगले 2-3 महीनों के दौरान स्थिति बेहतर होने की उम्मीद है. अगले कुछ महीनों में वेटिंग पीरियड खत्म हो जाएगा.

 

कार कंपनियां मांग के मुताबिक, अपना उत्पादन बढ़ाने में जुटी हुई हैं. लेकिन, सप्लाई चेन बाधित होने के चलते कंपनियों का उत्पादन सामान्य होने में अभी और वक़्त लग सकता है. यानी, आने वाले कुछ महीनों के दौरान चुनिंदा कार मॉडल्स के लिए आपको लंबा इंतज़ार करना पड़ सकता है.

 

LEAVE A REPLY