खास बात यह है कि इजरायल इंस्टीट्यूट ऑफ बायोलॉजिकल रिसर्च ने इजरायल की डिफेंस फोर्सेस के साथ मिलकर इसका टेस्ट किया है. 

नई दिल्ली: कोरोना वायरस (Coronavirus) के खिलाफ जंग में भारत ने इजरायल से एक बड़ा ‘हथियार’ ले रहा है. कोरोना संकट काल में इजरायल भारत को एक तरह का कीटाणुनाशक (Disinfectant) देने जा रहा है. जिससे देश में सार्वजनिक स्थानों पर कोरोना को फैलने से रोकने में मदद मिलेगी.

खास बात यह है कि इजरायल इंस्टीट्यूट ऑफ बायोलॉजिकल रिसर्च ने इजरायल की डिफेंस फोर्सेस के साथ मिलकर इसका टेस्ट किया है. ये लिक्विड खासतौर पर केमिकल वारफेयर के लिए बनाए जाते है. लेकिन अब इसी  लिक्विड को बदलाव के बाद कोरोना से लड़ने के लिए तैयार किया गया है.

केमिकल बनाने में उपयोग की जाने वाली तकनीक को अब कोरोना के खिलाफ जंग में इस्तेमाल किया जा रहा है. अब इस खास लिक्विड का इस्तेमाल भारत भी करेगा.

कोरोना के खिलाफ कैसे करेगा ये काम-

कोरोना वायरस को मात देने के लिए यह लिक्विड किसी भी सरफेस पर फैला दिया जाए तो वह वायरस को अपने में चिपका लेता है. ऐसे में अगर संक्रमित व्यक्ति इस लिक्विड को हाथ में लगाएगा तो उसके हाथ से वो वायरस उसी सरफेस पर रह जायेगा. जिससे दूसरे व्यक्ति में संक्रमण फैलने का खतरा कम होगा. जानकारी के मुताबिक, इसका असर काफी दिनों तक रहता है. इसका इस्तेमाल खासतौर पर मेट्रो, एयरपोर्ट, बस स्टॉप और भीड़ भाड़ वाले इलाकों में किया जाएगा.

LEAVE A REPLY