महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार को कहा कि 30 जून के बाद भी राज्य में लॉकडाउन की पाबंदियां जारी रहेंगी.

मुंबई: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार को कहा कि 30 जून के बाद भी राज्य में लॉकडाउन की पाबंदियां जारी रहेंगी.

टेलीविजन पर संबोधन में ठाकरे ने पाबंदियों में ढील दिए जाने से इनकार करते हुए कहा कि राज्य में कोरोना वायरस का खतरा अब भी बना हुआ है.

ठाकरे ने कहा कि अर्थव्यवस्था को फिर से पटरी पर लाने के लिए अनलॉक की प्रक्रिया को धीरे-धीरे लागू किया जा रहा है, जिसे ‘मिशन बिगिन अगेन’ नाम दिया गया है.

उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस से बुरी तरह प्रभावित मुंबई में ‘चेज द वायरस’ पहल के अच्छे परिणाम सामने आए और अब इसे राज्य के दूसरे ​​हिस्सों में भी लागू किया जाएगा.

अभियान के तहत कोविड-19 रोगी के निकट संपर्क में आने वाले 15 लोगों को आवश्यक रूप से संस्थागत पृथक-वास केंद्र में रखा जाएगा, जबकि समुदाय के नेता लोगों को संस्थागत पृथक-वास केंद्रों में अन्य बीमारियों, भोजन और अन्य सुविधाओं की जानकारी देंगे. साथ ही वे क्लीनिक के समय के बारे में भी बताएंगे. इसे 27 मई को शुरू किया गया था.

मुख्यमंत्री ने टेलीविजन से दिए गए संबोधन में कहा, ‘‘मुंबई में हमें चेज द वायरस अभियान के अच्छे परिणाम मिले और अब हमने इसे पूरे राज्य में लागू करने का निर्णय किया है.’’

उन्होंने यह भी जानकारी दी कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अभियान का विस्तार करने की मांग की है ताकि महाराष्ट्र कम कीमत पर गरीबों को खाद्यान्नों की आपूर्ति कर सके.

कोरोना के रिकॉर्ड  5,493 नए मामले सामने आए
महाराष्ट्र में कोविड-19 के एक दिन में रिकॉर्ड 5,493 नये मामले सामने आने के साथ ही कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,64,626 हो गई. एक स्वास्थ्य अधिकारी ने यह जानकारी दी.

उन्होंने बताया कि इसके अलावा, कोविड-19 से और 156 लोगों की मौत होने के साथ ही राज्य में महामारी से जान गंवाने वालों का आंकड़ा बढ़कर 7,429 हो गया.

अधिकारी ने बताया कि जान गंवाने वाले 156 लोगों में से 60 मौतें बीते 48 घंटों के दौरान हुईं जबकि अन्य की मौत पहले हुई थी.

 

अधिकारी ने बताया कि दिन में 2,230 लोगों को स्वस्थ होने के बाद छुट्टी दी गई जिससे ठीक हुए लोगों की संख्या 86,575 हो गई है. राज्य में अब भी 70,607 मरीज इलाजरत हैं.

अब तक 9,23,502 लोगों की कोरोना वायरस संक्रमण के लिए जांच की गई है.

मुंबई पुलिस की लोगों से अपील
मुंबई पुलिस ने शहर के निवासियों से कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए व्यायाम करने या दुकानों और सैलूनों में जाने के लिए अपने घरों से दो किलोमीटर के दायरे से आगे न जाने का रविवार को अनुरोध किया.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि केवल कार्यालय जाने या आपात स्थिति में इलाज कराने के लिए ही दो किलोमीटर के दायरे से आगे जाने की अनुमति है. खरीदारी के लिए अपने घरों से दो किलोमीटर के दायरे से बाहर जाने पर सख्त मनाही है.

मुंबई पुलिस ने निवासियों से निजी सुरक्षा और सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करने की अपील की. ऐसा न करने पर वह दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी.

अधिकारी ने बताया कि निवासी यह सुनिश्चित करें कि केवल आवश्यक सेवाओं के लिए ही वे घरों से बाहर निकलें.

उन्होंने कहा, ‘‘बाहर निकलते समय चेहरे पर मास्क लगाना अनिवार्य है और अगर लोग बाजार, सैलून, नाई की दुकानों तक जा रहे हैं तो यह उनके आवास से दो किलोमीटर के दायरे में ही होना चाहिए.’’

LEAVE A REPLY