नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली और गाजियाबाद, नोएडा, गुरुग्राम सहित एनसीआर के कई इलाकों में शुक्रवार शाम को लगातार दूसरे दिन तेज हवाओं के साथ आई बारिश ने लोगों को गर्मी से थोड़ी राहत दिलाई। मौसम विभाग का अनुमान है कि पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से कुछ दिन आंधी-पानी का दौर चलता रहेगा।

दिल्ली-गाजियाबाद में जहां हल्की बूंदाबांदी हो रही है, वहीं गुरुग्राम में भारी बारिश जारी है। मौसम विभाग के मुताबिक, हवा और बारिश के कारण कारण दिल्ली में अधिकतम तापमान गिरकर गिरावट महसूस की जा रही है। पिछले दिनों यहां पर अधिकतम तापमान 46 डिग्री के पार हो गया था।

दिल्ली और एनसीआर के शहरों में गुरुवार शाम भी हवा चलने और हल्की बारिश कारण कई दिन से लू और भीषण गर्मी झेल रहे लोगों को खासी राहत मिली थी। यूं तो पूर्वी हवाओं के कारण पिछले दिनों जैसी तपिश नहीं थी। लेकिन, शाम के बाद मौसम में और सुधार हुआ। शाम के सात बजे के बाद दिल्ली के ज्यादातर हिस्सों 30 किलोमीटर प्रति घंटे तक की रफ्तार से हवाएं चलने लगीं। शाम को हल्की बारिश से मौसम सुहाना हो गया।

फिर सक्रिय हुआ मानसून

बता दें कि, बंगाल की खाड़ी में 17 मई से स्थिर पड़ा मानसून फिर सक्रिय हो गया है। मौसम विभाग ने कहा है कि 31 मई से चार जून के बीच अरब सागर में बनने वाले निम्न दबाव क्षेत्र में मानसून को जबरदस्त सक्रियता मिलेगी। इससे यह एक जून तक केरल में दस्तक दे सकता है।

विभाग पहले मानसून के देरी से केरल पहुंचने की आशंका जता चुका है। उसने कहा था केरल में पांच जून तक एंट्री हो सकती है, लेकिन गुरुवार को इसके एक जून तक ही केरल पहुंचने की संभावना जाहिर की गई है। मौसम विभाग ने कहा है कि मानूसन दक्षिण अंडमान सागर में सक्रिय होते हुए मालदीव के कुछ हिस्सों में छा गया है। अगले 48 घंटों में यह मालदीव को भिगोते हुए आगे बढ़ेगा। इस दौरान अरब सागर में बन रहे निम्न दबाव फायदा होगा और एक जून तक यह केरल में दस्तक दे देगा। मौसम विभाग के मुताबिक अरब सागर में निम्न दबाव क्षेत्र व कश्मीर के ऊपर एक पश्चिमी विक्षोभ के से उत्तर भारत में दो-तीन दिन में तापमान में तीन से चार डिग्री सेल्सियस तक की कमी आ सकती है।

LEAVE A REPLY