वाशिंगटन कोरोना वायरस महामारी के चलते अमेरिका मंदी की ओर अग्रसर है, लेकिन भारतीय मूल के एक अमेरिकी वेंचर पूंजीपति का कहना है कि सिलिकॉन वैली सूचना प्रौद्योगिकी उद्योग के विकास को लेकर आशावादी है। इंडियास्पोरा के संस्थापक एम आर रंगास्वामी ने कहा कि कोरोना वायरस संकट 2008 की वैश्विक आर्थिक मंदी की तुलना में अधिक कठिनाइयों भरा है, क्योंकि वायरस को लेकर एक तरह की अनिश्चितता और अदृश्यता की स्थिति है।

 

सिलिकॉन वैली के वेंचर पूंजीपति और सॉफ्टवेयर कार्यपालक रंगास्वामी ने पीटीआई-भाषा को बताया, ”निश्चित रूप से देश में मंदी का दौर चल रहा है। इसमें कोई शक नहीं। जहां तक प्रौद्योगिकी उद्योग के सीईओ की बात है, वे अभी भी वृद्धि को लेकर काफी आशावादी हैं। उन्होंने कहा कि इस बार लोग यात्रा नहीं कर रहे हैं, विमानन उद्योग थम गया है, और लोग होटल में भी नहीं रुक रहे हैं। लोगों को बाहर जाने और कुछ भी करने में बीमार होने का डर है।

 

उन्होंने कहा, ”इसलिए, इस बार कहीं अधिक असर होगा। इसका दुनिया भर में असर होगा। लेकिन मुझे उम्मीद है कि सुधार भी तेजी से होगा। मान लीजिए वायरस दो महीनों में खत्म हो गया, उसके बाद तेजी से सुधार हो सकता है।

LEAVE A REPLY