नई दिल्ली/  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के तरीकों पर शुक्रवार (20 मार्च) को कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ चर्चा की। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन और स्वास्थ्य मंत्रालय के शीर्ष अधिकारी भी बैठक में मौजूद थे, जो वीडियो लिंक के जरिए हुई। बैठक शाम चार बजे शुरू हुई। सरकार में मौजूद सूत्रों ने बताया कि ‘कोविड-19’ को फैलने से रोकने के तरीकों पर चर्चा करने के अलावा, राज्यों के क्षमता निर्माण और स्थानीय स्वास्थ अधिकारियों को प्रशिक्षण जैसे मुद्दे भी चर्चा के लिए उठे होंगे।

वीडियो कॉन्फ्रेंस में शरीक होने वालों में पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह, महाराष्ट्र के उद्धव ठाकरे, उत्तर प्रदेश के योगी आदित्यनाथ शामिल हैं। प्रधानमंत्री वायरस को फैलने से रोकने के लिये जन भागीदारी और स्थानीय लोगों के शामिल होने की हिमायत कर रहे हैं।

 

देश में कोरोना वायरस के संक्रमण से बृहस्पतिवार (19 मार्च) को चौथी मौत हुई, जबकि देश में ‘कोविड-19’ के कुल मामले बढ़ कर शुक्रवार को 223 हो गए हैं। इस खतरनाक वायरस की वजह से 158 देशों में 10,000 से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है और 2,32,650 लोग संक्रमित हैं।

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कोरोना वायरस संकट को लेकर आगामी 22 मार्च को सुबह सात बजे से रात नौ बजे तक ‘जनता कर्फ्यू’ का आह्वान किया है और कहा कि आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों को छोड़कर किसी को भी घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए। उन्होंने बृहस्पतिवार (19 मार्च) को करीब 30 मिनट के राष्ट्रीय संबोधन में सभी भारतीयों से अपील की कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए यथासंभव घरों के अंदर ही रहें और कहा कि दुनिया में कभी इतना गंभीर खतरा पैदा नहीं हुआ।

 

प्रधानमंत्री ने अपने कोरोना वायरस महामारी संकट पर अपने संदेश में कहा था कि यह सोचना सही नहीं है कि सब ठीक है और इस वायरस को फैलने से रोकने के लिए लोगों से केंद्र सरकार तथा राज्य सरकारों द्वारा जारी परामर्शों का पालन करने का अनुरोध किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि प्रथम और द्वितीय विश्वयुद्ध में भी इतनी संख्या में देश प्रभावित नहीं हुए थे जितनी कि कोरोना वायरस से हुए हैं।

दिल्ली : मॉल बंद होंगे, किराना, फार्मेसी खुले रहेंगे
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा कि सरकार दिल्ली में सभी मॉलों को बंद करेगी, लेकिन इन मॉलों में स्थित किराना, फार्मेसी और सब्जियों की दुकानें खुली रहेंगी। केजरीवाल ने ट्वीट किया, “मौजूदा स्थिति को देखते हुए हम सभी मॉल (किराना, फार्मेसी और सब्जी की दुकानों को छोड़कर) को बंद कर रहे हैं।” सरकार ने क्षेत्र में कोरोना वायरस मामलों की बढ़ती संख्या को देखते हुए दिल्ली में सभी गैर-जरूरी सेवाओं को भी बंद कर दिया है।

LEAVE A REPLY