पार्टी नेतृत्व ने गिरिराज सिंह के बयान से नाराजगी जाहिर की है। पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने गिरिराज सिंह को तलब भी किया है।
नई दिल्ली /अक्सर अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाले केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने हाल ही में अपने एक बयान में देवबंद को ‘आतंक की गंगोत्री’ बताया था। गिरिराज सिंह के इस बयान पर खासा हंगामा हुआ है। अब खबर आयी है कि पार्टी नेतृत्व ने गिरिराज सिंह के बयान से नाराजगी जाहिर की है। पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने गिरिराज सिंह को तलब किया है।
टीवी रिपोर्ट्स के अनुसार, गिरिराज सिंह ने दिल्ली में जेपी नड्डा से मुलाकात कर ली है। मुलाकात के बाद गिरिराज सिंह ने मीडिया से कोई बात नहीं की। सूत्रों के हवाले से बताया जा रहा है कि जेपी नड्डा ने विवादित बयानों को लेकर गिरिराज सिंह को चेतावनी दी है और उन्हें इस तरह के बयानों से दूर रहने की सलाह दी है।
गिरिराज सिंह बीते दिनों संशोधित नागरिकता कानून के समर्थन में आयोजित हुए एक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए सहारनपुर पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि ‘मैंने एक बार कहा था कि देवबंद आतंकवाद की गंगोत्री है। हाफिज सईद जैसे सभी बड़े आतंकवादी वहीं (देवबंद) से निकलते हैं।’

गिरिराज सिंह ने सीएए विरोधी आंदोलन को देश विरोधी करार दिया और जेएनयू छात्र शरजील इमाम की भारत विरोधी बयान पर कहा कि यह खिलाफत आंदोलन है।
गिरिराज सिंह इससे पहले भी कई बार ऐसे बयान दे चुके हैं, जिन पर विवाद हुआ है। शाहीन बाग में चल रहे विरोध प्रदर्शन पर उन्होंने कहा था कि शाहीन बाग अब सिर्फ आंदोलन नहीं रह गया है, यहां सुसाइड बॉम्बर का जत्था बनाया जा रहा है। देश की राजधानी में देश के खिलाफ साजिश हो रही है।
गौरतलब है कि पार्टी नेताओं के विवादित बयानों पर केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी नाराजगी जाहिर की थी। दिल्ली चुनाव के दौरान दिए गए पार्टी नेताओं के बयानों पर नाराजगी जाहिर की थी और कहा था कि ‘हो सकता है कि ऐसे बयानों से भाजपा को नुकसान हुआ हो।’

LEAVE A REPLY