झारखंड में शाह ने की चुनावी रैली संबोधित
रांची। अयोध्या पर फैसला आने के बाद पहली बार भाजपा अध्यक्ष और गृह मंत्री अमित शाह ने राम मंदिर पर बड़ा बयान दिया है। झारखंड में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए गृह मंत्री ने कहा राम जन्मभूमि पर आसमान छूने वाला मंदिर बनेगा।
राज्य के लातेहार में कहा कि आप बताइए, राम मंदिर बनना चाहिए कि नहीं? मगर ये कांग्रेस पार्टी न्यायालय में केस ही नहीं चलने देती थी। अभी उच्चतम न्यायालय ने यह निर्णय कर दिया है। अब राम जन्मभूमि पर आसमान छूने वाला मंदिर बनेगा। उन्होंने कहा कि हम चाहते थे कि निर्णय न्यायालय करे, संवैधानिक रूप से इस विवाद का अंत हो और देखिए उच्चतम न्यायालय ने इसका समाधान कर दिया और भव्य राम मंदिर के निर्माण का प्रशस्त कर दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश की एक के बाद एक समस्याओं का समाधान कर रहे हैं। शाह ने कहा कि वोट के लालच में कांग्रेस ने कश्मीर से अनुच्छेद 370 का समाधान नहीं निकाला।
नरेंद्र मोदी की सरकार ने भारत माता के मुकुट पर लगे इस कलंक को हटाकर इस समस्या का समाधान कर दिया। अमित शाह ने कहा कि आज झारखंड विकास के पथ पर अग्रसर है, क्योंकि ऊपर नरेंद्र मोदी की सरकार है और राज्य में भी भाजपा की सरकार है।

झारखंड को अटल जी ने बनाया, मोदी जी संवारेंगे और झारखंड को एक नंबर का राज्य बनाएंगे। उन्होंने कहा कि झारखंड की जनता ने आपको 10 साल का समय दिया था, लेकिन आप झारखंड के लिए कुछ नहीं कर पाए। मैं कांग्रेस और हेमंत सोरेन से कहना चाहता हूं कि चुनाव में आप आ रहे हैं तो हिसाब लेकर आइए कि झारखंड के विकास के लिए क्या किया? झारखंड के लोगों को जवाब दीजिए। उन्होंने कहा कि सोनिया-मनमोहन की सरकार ने झारखंड को केवल 55 हजार करोड़ रुपये दिए। नरेंद्र मोदी की सरकार ने झारखंड के विकास के लिए इससे छह हजार गुना अधिक धन 3 लाख 8 हजार 487 करोड़ रुपये दिए।
राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास की तारीफ करते हुए शाह ने कहा कि पांच साल के बाद मैं यहां आया हूं। हमारे रघुवार दास ने पांच साल में राज्य को आगे बढ़ाने का काम किया है। हमारे मोदी ने दिल्ली में बैठकर हर पल झारखंड के विकास की चिंता की है। उन्होंने कहा कि मैं कांग्रेस से पूछना चाहता हूं कि आप 70 साल सत्ता में रहे। गरीबों के घर में बिजली, रसोई गैस क्यों नहीं पहुंची? भारतीय जनता पार्टी की सरकार आई तो हर घर में बिजली और मां-बहनों के पास रसोई गैस पहुंची। गृह मंत्री ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने 70 साल तक पिछड़ा समाज के साथ अन्याय किया है। पिछड़ा समाज के लोग अपने संवैधानिक अधिकार की मांग कर रहे थे, लेकिन कांग्रेस उनके अधिकार की मांग पर ध्यान नहीं दिया। नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बनकर आए तो पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक बनाकर करोड़ों-करोड़ों लोगों को उनका अधिकार दिया।

कांग्रेस को लिया आड़े हाथों
उन्होंने कहा कि पिछड़ा समाज को उसका अधिकार अधिक से अधिक मिले, इसके लिए भारतीय जनता पार्टी की सरकार आयोग बनाकर सुनिश्चित करेगी कि पिछड़े समाज को अधिक से अधिक आरक्षण का लाभ मिले। उन्होंने आगे कहा कि सन् 1857 की क्रांति में अंग्रेजों के खिलाफ जब पूरा देश लड़ रहा था तब सबसे बड़ी लड़ाई पलामू के लोगों ने लड़ी थी, यहां की जन-जातियों ने खुलकर हिस्सा लिया और क्रांति की मशाल को जलाए रखा। अमित शाह ने कहा कि हमने 35 लाख लोगों के घर में गैस का सिलेंडर पहुंचाने का काम किया, पांच लाख से ज्यादा लोगों को घर देने का काम किया और पूरे झारखंड के हर घर में शौचालय और पीने का पानी पहुंच जाए, इस प्रकार की व्यवस्था भी भाजपा की सरकार कर रही है। उन्होंने कहा कि मैं पूछना चाहता हूं कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी से कि आपने 70 साल में क्या काम किया है? कांग्रेस को चुनौती है कि आपके 70 साल के काम, हमारे पांच साल के काम का हिसाब कर लो। हमारे पांच साल के काम आपके 70 साल पर भारी पड़ेंगे। शाह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी और झारखंड मुक्ति मोर्चा आदिवासियों और पिछड़ों की बात करते हैं। मैं पूछना चाहता हूं कि 70 साल तक आपने शासन किया, गरीब के घर में गैस, बिजली, स्वास्थ्य कार्ड, शौचालय क्यों नहीं पहुंचा? इनके पास कोई बात का जवाब नहीं है।

LEAVE A REPLY