भोपाल। एमपी के 39 सांसदों(लोकसभा-राज्यसभा) को पत्र लिखने पर पूर्व मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ विधायक डॉ नरोत्तम मिश्रा ने पूर्व मुख्यमंत्री और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह पर तंज कसा है। मिश्रा का कहना है कि चिट्ठी लिखने का दिग्विजय का स्वभाव है, वे कभी मुख्यमंत्री कमलनाथ की ओर से अपने मंत्री पुत्र को तो कैबिनेट मंत्रियों को पत्र लिख देते है।वही उन्होंने कांग्रेस सरकार पर किसानों की अपेक्षा करने का आरोप लगाया है।

दरअसल, आज मीडिया से चर्चा करते हुए पूर्व मंत्री और बीजेपी विधायक नरोत्तम मिश्रा ने दिग्विजय सिंह के सांसदों को लिखे गए पत्र पर चुटकी ली। मिश्रा ने कहा कि चिट्ठी लिखने का दिग्विजय का स्वभाव है।कभी वे सीएम की ओर से अपने पुत्र नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह को तो कभी वनमंत्री उमंग सिंघार को चिट्ठी लिख देते है। इन चिट्ठी को छोड़े और दिग्विजय जी पहले ये बताएं कि पेट्रोल डीजल पर जो रेट बढ़ता था वो पैसा कहां गया। जानबूझकर किसानों की उपेक्षा की जा रही है। किसान रोज़ आत्महत्या कर रहा है। नया लोन मिल नही रहा तो क्या करे किसान, इनके आश्वासन से किसान आत्महत्या कर रहे है।

गौरतलब है कि मध्य प्रदेश के साथ सौतेले व्यवहार को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने प्रदेश के सभी 39 सांसदों को चिट्ठी लिखी है। इन सांसदों में लोकसभा के 29 और राज्यसभा के 10 सांसद शामिल हैं। दिग्विजय सिंह ने अपनी चिट्ठी में केंद्र सरकार की तरफ से योजनाओं को लेकर हो रहे भेदभाव का भी जिक्र किया है, वही जनहित के लिए उनसे साथ आने की अपील की है।उन्होंने बताया है कि वे जल्द ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे।

LEAVE A REPLY