इसी पर गुरुवार को भारत की ओर से कड़ी प्रतिक्रिया दी गई है. विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारत तुर्की के एक्शन पर चिंतित है और सीरिया के साथ शांति के साथ बात करने की अपील करता है.

  • तुर्की ने सीरिया में बम बरसाने शुरू किए
  • तुर्की के एक्शन पर भारत का कड़ा विरोध
  • भारत की अपील- बातचीत से सुलझाएं मसला

नई दिल्ली तुर्की के द्वारा सीरिया में बम बरसाने पर भारत ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है. सीरिया से अमेरिकी सेना के हटते ही तुर्की लगातार सीरिया में हमला कर रहा है और कुर्दिश लड़ाकों को निशाना बना रहा है. इसी पर गुरुवार को भारत की ओर से कड़ी प्रतिक्रिया दी गई है. विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारत तुर्की के एक्शन पर चिंतित है और सीरिया के साथ शांति के साथ बात करने की अपील करता है.

गुरुवार को जारी विदेश मंत्रालय के बयान में कहा गया है कि भारत अपील करता है कि तुर्की सीरिया की स्वायत्तता का सम्मान करे और अगर कोई विवाद है तो उसे बातचीत से सुलझाने की कोशिश करे. तुर्की के द्वारा नॉर्थ-ईस्ट सीरिया में हो रही बमबारी काफी चिंता का विषय है.

MEA: We are deeply concerned at the unilateral military offensive by Turkey in north-east Syria. Turkey’s actions can undermine stability in the region and the fight against terrorism. Its action also has the potential for causing humanitarian and civilian distress.

विदेश मंत्रालय ने कहा है कि तुर्की का एक्शन सीरिया और आसपास के क्षेत्र में आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई को कमजोर कर सकता है. साथ ही साथ मानवता और स्थानीय नागरिकों के लिए भी काफी चिंता का विषय है.

गौरतलब है कि बीते दिनों अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सीरिया से अमेरिकी सेना को वापस बुलाने का ऐलान किया था. मंगलवार-बुधवार से ही सीरिया के कुछ क्षेत्रों से अमेरिकी सेना वापस आने लगी और तुरंत सीरिया की सेना ने वहां मौजूद कुर्दिश के लड़ाकों पर हमला बोलना शुरू कर दिया. खुद तुर्की के राष्ट्रपति तैयप एद्रोगन ने ट्विटर पर इन हमलों का ऐलान किया था.

LEAVE A REPLY