पश्चिम बंगाल में टीएमसी को एक झटका लगा है. विधाननगर नगर निगम के पूर्व महापौर और टीएमसी विधायक सब्यसाची दत्ता मंगलवार को बीजेपी में शामिल हो गए.

कोलकाता: पश्चिम बंगाल में टीएमसी (TMC) को एक झटका लगा है. विधाननगर नगर निगम के पूर्व महापौर और टीएमसी विधायक सब्यसाची दत्ता (Sabyasachi Dutta) मंगलवार को बीजेपी में शामिल हो गए. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) की मौजूदगी में उन्होंने बीजेपी का दामन थामा. हालांकि, दत्ता ने सोमवार को इस बात की घोषणा कर दी थी कि वह आज बीजेपी ज्वॉइन कर लेंगे. तृणमूल कांग्रेस ने कथित पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते विधाननगर महापौर के रूप में निर्णय लेने संबंधी उनके अधिकार वापस ले लिए थे. राजारहाट-न्यूटाउन से विधायक दत्ता ने इस वर्ष जुलाई में विधाननगर नगर निगम के महापौर पद से इस्तीफा दे दिया था.

पिछले माह, कोलकाता के पूर्व मेयर और टीएमसी विधायक सोवन चटर्जी ने बीजेपी ज्वॉइन की थी. इस साल लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने 42 में से 18 सीटों पर जीत हासिल की थी. वहीं, टीएमसी के खाते में 22 सीटें आई थीं. टीएमसी ने 2014 के लोकसभा चुनाव में 34 सीटें हासिल की थीं.

लोकसभा चुनाव के बाद से बिस्वजीत दास तुषारकांति भट्टाचार्य, मोनिरुल इस्लाम और सुनील सिंह सहित कई टीएमसी नेता भाजपा में शामिल हुए हैं. टीएमसी को बीजेपी कड़ी टक्कर दे रही हैं. पश्चिम बंगाल में बीजेपी का जनाधार लगातार बढ़ रहा है. टीएमसी के विधायक पार्टी का साथ छोड़कर बीजेपी में जा रहे हैं. इतना ही नहीं, भाटापारा, ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली पार्टी ने भटपारा, हलिसहर, कांचरापारा, नैहाटी और गरुलिया के पांच नगर निकायों पर भी नियंत्रण खो दिया है.

बंगाल में एनआरसी लागू किया जाना है: शाह
इधर, केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को कहा कि केंद्र नागरिकों के राष्ट्रीय पंजी का विस्तार पश्चिम बंगाल तक करेगा लेकिन इससे पहले सभी हिंदू, सिख, जैन और बौद्ध शरणार्थियों को भारतीय नागरिकता देने के लिए नागरिकता (संशोधन) विधेयक पारित किया जाएगा. विवादास्पद राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) पर एक संगोष्ठी को संबोधित करते हुए शाह ने कहा कि पश्चिम बंगाल की सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस एनआरसी के बारे में लोगों को गुमराह कर रही है. शाह ने कहा कि सभी घुसपैठियों को देश से बाहर किया जाएगा.

LEAVE A REPLY