मोदी ने रचा इतिहास, हिट रहा… हाउडी मोदी-शो
/समय जगत, नई दिल्ली/ ह्यूस्टन में हाउडी मोदी शो में पीएम मोदी ने ट्रंप के सामने दिया भाषण स्टेडियम के बाहर हजारों लोगों का कश्मीर पर फैसले के खिलाफ प्रदर्शन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अमेरिका के ह्यूस्टन में हाउडी मोदी नाम के मेगा शो को वैश्विक स्तर पर देखा और सराहा गया. लेकिन पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में इस शो को किस तरह से देखा गया, वह भी तब जब उसके प्रधानमंत्री इमरान खान का अमेरिका पहुंचने पर फीके अंदाज में स्वागत किया गया. पाक की लगभग सभी न्यूज वेबसाइट ने मोदी के भाषण को अपनी लीड बनाई है. प्रधानमंत्री मोदी ने रविवार को हाउडी मोदी समारोह में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की मौजूदगी में आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान पर निशाना साधा और कहा कि भारत ने हाल ही में जम्मू-कश्मीर के विकास में बाधा पहुंचाने वाले अनुच्छेद 370 को हटा दिया है. हमारे फैसलों से उन लोगों को दिक्कत हो रही है, जिनसे अपना देश संभल नहीं रहा. अमेरिका में 9/11 हो या मुंबई में 26/11 हो, उसके साजिशकर्ता कहां पाए जाते हैं? उन्हें पूरी दुनिया जानती है. इसलिए अब समय आ गया है कि आतंकवाद और आतंकवाद को बढ़ावा देने वालों के खिलाफ निर्णायक लड़ाई लड़ी जाए।
शो के बाद ट्रंप बोले- लव्स इंडिया
‘हाउडी मोदी की कामयाबी के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने किया ट्वीट, लिखा- लव्स इंडिया
अमेरिका के ह्यूस्टन में आयोजित ‘हाउडी मोदी इवेंट में कुछ ऐसे नजारे देखने को मिले जो इससे पहले कभी नहीं देखे गए थे। अमेरिका के ह्यूस्टन में आयोजित इस कार्यक्रम में कुछ ऐसे नजारे भी देखने को मिले जो इससे पहले कभी नहीं देखे गए थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस कार्यक्रम में मेजबान की भूमिका में नजर आए जबकि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिकी शहर में आयोजित इस कार्यक्रम में बतौर मेहमान हिस्सा लिया। देश-दुनिया की तमाम बड़ी हस्तियों ने सोशल मीडिया पर इस आयोजन के बारे में अपने विचार लिखे। वहीं, कार्यक्रम के बाद ट्रंप ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर जता दिया कि यह इवेंट कितना शानदार था। प्रधानमंत्री कार्यालय के ट्विटर हैंडल से ट्वीट गए किए वीडियो को रीट्वीट करते हुए ट्रंप ने लिखा, ‘अमेरिका भारत को प्यार करता है। ट्रंप ने कार्यक्रम के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का हाथ पकड़कर स्टेडियम का चक्कर भी लगाया। आपको बता दें कि कार्यक्रम के दौरान ट्रंप और मोदी के बीच जबर्दस्त घनिष्ठता देखने को मिली। जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाषण दे रहे थे, तब ट्रंप उनके सामने ही बैठे थे और लगातार मुस्कुरा रहे थे।
दोनों का हुआ भव्य स्वागत
ह्युस्टन में आयोजित इस अनोखे कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ट्रंप के आगमन पर स्टेडियम में मौजूद लोगों ने उनका भव्य स्वागत किया। ट्रंप और मोदी ने एक-दूसरे को गले लगाया और उन्होंने इस ऐतिहासिक अवसर का उत्सुकता से इंतजार कर रहे लोगों का हाथ हिला कर अभिवादन किया और मंच की तरफ बढ़ गए। गौरतलब है कि यह पहली बार था जब ट्रंप और मोदी ने मंच साझा करते हुए रिकॉर्ड 50,000 भारतीय-अमेरिकियों को संबोधित किया।
पहली बार दिखा प्रेसिडेंशियल सील की जगह भारत-अमेरिका की दोस्ती का झंडा
ह्यूस्टन। अमेरिका के ह्यूस्टन में हाउडी मोदी ने दुनिया भर में सुर्खियां बटोरीं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोलाल्ड ट्रंप के इस साझा कार्यक्रम की एक और खासियत चर्चा में है। कार्यक्रम में ट्रम्प के भाषण मंच पर प्रेसिडेंशियल सील की जगह भारत-अमेरिका की दोस्ती का झंडा लगा हुआ था। ट्रम्प प्रशासन ने पहली बार राष्ट्रपति के भाषण मंच पर लगाए जाने वाले प्रतीक में बदलाव किया था। अमेरिकी सरकार की परंपरा के मुताबिक राष्ट्रपति के भाषण मंच पर प्रेसिडेंशियल सील ही लगाई जाती है। देश-विदेश में राष्ट्रपति का कोई भी भाषण या बयान प्रेशिडेंशियल सील वाले भाषण मंच से ही जारी होता है। किसी भी साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस या बयान के दौरान भी इसमें बदलाव नहीं किया जाता है। यहाँ तक कि राष्ट्रपति के चुनाव अभियान के दौरान भी प्रेसिडेंशियल सील नहीं हटाई जाती है। पहली बार इसकी जगह भारत-अमेरिका की दोस्ती का झंडा लगाना दोनों देशों के बीच मजबूत होने रिश्तों की बानगी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप रविवार को ह्यूस्टन में हाउडी मोदी इवेंट में शामिल हुए थे। यह पहला मौका था, जब दुनिया के दो सबसे बड़े लोकतांत्रिक देशों के प्रमुखों ने अमेरिका में इतनी बड़ी रैली को एक साथ संबोधित किया। ह्यूस्टन के एनआरजी स्टेडियम में 50 हजार लोगों की मौजूदगी में भारत और अमेरिका के आपसी संबंधों के महत्व पर बात हुई। इस दौरान भी मोदी-ट्रम्प के बीच अलग ही कैमिस्ट्री नजर आई थी। हाउडी मोदी के बाद प्रधानमंत्री न्यूयॉर्क के लिए रवाना हो गए। जहां मोदी के कई द्विपक्षीय और व्यापार वार्ताओं में शामिल होने और इसके बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ मुलाकात और महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने तथा आखिर में प्रधानमंत्री मोदी द्वारा संयुक्त राष्ट्र संघ की सभा को संबोधित करने का भी कार्यक्रम पूर्व निर्धारित था।

LEAVE A REPLY