विसर्जन के दौरान शांति बरतें. किसी भी तरह की अफवाह पर ध्यान न दें. कोई संदिग्ध वस्तु या कोई व्यक्ति दिखाई दे तो इसकी सूचना तुरंत समीप के पुलिस स्टेशन में दें.

नई दिल्ली: गणपति बप्पा की दस दिनों तक पूजा अर्चना करने के बाद अब उनकी विदाई की बेला भी आ गई है. मुंबई के तकरीबन छह हजार सार्वजनिक गणेश मंडलों का विसर्जन गुरुवार अनंत चतुर्दशी के दिन होने है. इसको लेकर महानगर पालिका ने विसर्जन में शामिल होने के आने वाले लोगों के लिए एक एडवाइजरी जारी की है. इसे अलग अलग पुलिस स्टेशनों में भेजा गया है, जिसके मद्देनजर लोगों को सलाह दी गई है कि वो कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखें.

विसर्जन के दौरान शांति बरतें. किसी भी तरह की अफवाह पर ध्यान न दें. कोई संदिग्ध वस्तु या कोई व्यक्ति दिखाई दे तो इसकी सूचना तुरंत समीप के पुलिस स्टेशन में दें. विसर्जन के दौरान कोई लाउडस्पीकर डीजे या इस तरह का कोई वाद्य का उपयोग न करें. गहरे समुद्र में ना जाएं. मूर्ति विसर्जन के दौरान गोताखोर और लाइफगार्ड की मदद जरूर लें. बड़ी मूर्तियों के विसर्जन के लिए फ्लोटिंग प्लेटफार्म का ही इस्तेमाल करें. ज्यादा में बच्चों को न ले जाएं. विसर्जन के दौरान आने वाला हर व्यक्ति अपना पहचान पत्र अपनी जेब में जरूर रखे. ट्रैफिक नियमों का पालन जरूर करें और ट्रैफिक पुलिस के जरिए दिए गए रास्तों से ही जाए.

मुंबई में कुल 7703 सार्वजनिक गणेश मंडल और तकरीबन 127623 घरों के गणपति का विसर्जन होने के बाद साल 2019 का गणेशोत्सव ‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌समाप्त हो जाएगा.  इसके लिए भव्य पैमाने पर 129 जगह पर विसर्जन का स्थान बनाया गया है, जो समुद्र सहित तालाबों के किनारे हैं. इन नैसर्गिक पानी और तालाब के अलावा कृत्रिम रूप से तालाब बनाए गए‌ जहाँ गणपति बप्पा का विसर्जन किया जा सके.

मुंबई पुलिस डिप्टी कमीश्नर प्रणय अशोक का कहना है कि अनंत चतुर्दशी के दिन होने वाले विसर्जन के लिए लोगों को बता दिया गया है कि कई सारे रास्ते जो है गाड़ियों के लिए बंद रहेंगे. विसर्जन स्थल के समीप अलग-अलग इलाकों में तकरीबन 99 पार्किंग स्थल बनाए गए हैं जहां लोग अपनी गाड़ियां छोड़ सकते हैं. इसके अलावा उनके सहूलियत और सुरक्षा का भी पूरा ध्यान रखा गया है. 5000 सीसीटीवी तैनात किए गए हैं जो शहर भर के अलग-अलग हिस्सों से लाइव फुटेज कंट्रोल रूम तक देंगे.

LEAVE A REPLY