टैरिफ के लागू होते ही अनमीटर्ड से मीटर्ड में शिफ्ट होने वाले ग्रामीण घरेलू उपभोक्ताओं को पांच साल पहले दी गई बिजली बिल में 10 प्रतिशत की छूट की सुविधा खत्म हो जाएगी.

लखनऊ: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की जनता को एक बार फिर से तगड़ा झटका लगने वाला है. बिजली के 12 फीसदी तक महंगी होने के बाद यूपी विद्युत नियामक आयोग (UP Electricity Regulatory Commission) जल्द ही प्रदेश में बिजली दर का नया टैरिफ लागू करेगा.

टैरिफ के लागू होते ही अनमीटर्ड से मीटर्ड में शिफ्ट होने वाले ग्रामीण घरेलू उपभोक्ताओं को पांच साल पहले दी गई बिजली बिल में 10 प्रतिशत की छूट की सुविधा खत्म हो जाएगी. दरअसल, आयोग के नए टैरिफ में इस सुविधा को खत्म कर दिया गया है.

दूसरी ओर इस टैरिफ में ग्रामीण उपभोक्ताओं की बिजली दर में 25 प्रतिशत की वृद्धि भी की गई है. इस तरह से नए टैरिफ की सबसे अधिक भार ग्रामीण उपभोक्ताओं पर ही डाल दिया गया है.

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में बिजली की दरें बढ़ा दी गई है. योगी आदित्यनाथ की सरकार ने यूपी में बिजली की दरें 12 से 15 फीसदी महंगी करने का फैसला लिया है. सरकार ने मंगलवार (03 सितंबर) को नई दरों का ऐलान कर दिया है. घरेलू बिजली दरें 12 फीसदी तक बढ़ाई गई हैं, जबकि शहरी क्षेत्र में 15 फीसदी की बढ़ोतरी की गई है. औद्योगिक क्षेत्र में 10 फ़ीसदी बढ़ाई गई है. ग्रामीण इलाकों में फिक्स चार्ज 400 से बढ़ाकर 500 किया गया है.

LEAVE A REPLY