मुख्यमंत्री ने कहा कि लोगों को गाड़ी के जरूरी कागजात तैयार करने के लिए तीन महीने का समय दिया जाए.

भुवनेश्वर : ओडिशा (Odisha) के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक (Naveen Patnaik) ने मोटर वाहन अधिनियम में हुए बदलावों के बाद राज्य के कुछ हिस्सों में जनता द्वारा जाहिर की गई नाराजगी पर चिंता जताई है.

मुख्यमंत्री ने एनफोर्समेंट अथॉरिटी को निर्देश दिया है कि वे वाहन चालकों के साथ आक्रमक तरीके से पेश न आएं, नरमी बरतें. उन्होंने कहा कि लोगों को गाड़ी के लिए जरूरी कागजात तैयार करने के लिए तीन महीने का समय दिया जाए.

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया है कि उन लोगों के साथ नरमी से पेश आएं जो मामूली नियमों को तोड़ते हुए पकड़े जाने पर जरूरी ट्रैफिक पुलिस और यातायात विभाग को जूरूरी कागजात न दिखां पाएं. मुख्यमंत्री ने सभी वाहन चालकों को ट्रैफिक नियमों का पालन करने को कहा है.

पटनायक ने परिवहन मंत्रालय को निर्देश दिया है कि वह सार्वजनिक सेवाएं बढ़ाने, सुविधा केंद्रों को मजबूत करने, अतिरिक्त काउंटर को खोलने, सार्वजनिक संस्थानों में शिविरों का संचालन करने के लिए कार्य करे, ताकि वाहन चालक अपनी गाड़ियों की अनुपालन स्थिति को अपडेट करने में सक्षम हो सकें.

बुधवार को ओडिशा (Odisha) के भुवनेश्‍वर (Bhubaneswar) में भी ऐसा ही एक मामला सामने आया, जहां एक ऑटो ड्राइवर का 47,500 हजार रुपये का चालान कट गया. वजह थी उसके पास जरूरी डॉक्‍यूमेंट्स का न होना और ऊपर से शराब पीकर वाहन चलाना. सबसे मजे की बात ये है कि इस शख्‍स ने 7 दिन पहले ही इस ऑटो को 26 हजार रुपये में सेकेंड हैंड खरीदा.

LEAVE A REPLY