• देश के कुछ इलाकों में गुरुवार को प्रति घंटे 80 मिमी बारिश की आशंका- मौसम विभाग
  • क्यूशू द्वीप के बारिश से ज्यादा प्रभावित होने की संभावना

टोक्यो. जापान के दक्षिण पश्चिम में क्यूशू द्वीप समेत पूरे कागोशिमा प्रांत में हो रही मूसलाधार बारिश में फंसे लगभग छह लाख लोगों को निकालने का आदेश दिया गया है। सार्वजनिक ब्राॅडकॉस्टर एनएचके ने बुधवार को यह जानकारी दी। कागोशिमा प्रांत दुर्गम क्षेत्रों में से एक है जिसकी राजधानी कागोशिमा है।

जापान के मौसम विभाग ने क्यूशू में पहले ही भारी बारिश की चेतावनी दी थी। क्षेत्र के लोगों को भारी बारिश के कारण संभावित प्राकृतिक आपदा के प्रति आगाह किया गया था। बुधवार को प्रभावित क्षेत्रों से लोगों को निकालने का आदेश जारी होने से पहले लोगों को मौसम विभाग की चेतावनी दी गई थी। उन्हें स्थानीय अधिकारियों की सलाह लेने और सुरक्षा के लिए आवश्यक उपाय करने को कहा गया था।

बुधवार को 40 मिमी से अधिक बारिश दर्ज

कागोशिमा शहर में जहां से लोगों को निकालने का आदेश जारी किया था, बुधवार की सुबह स्थानीय समयानुसार सात से आठ बजे के बीच 40 मिलीमीटर से अधिक बारिश दर्ज की गई। अधिकारियों ने प्रांत में व्यापक स्तर पर बारिश के कारण कीचड़ धंसने और सड़कों पर जलजमाव और फिसलन की आशंका को देखते हुए चेतावनी जारी की है।

गुरुवार को भी भारी बारिश की संभावना

मौसम विभाग ने कहा कि गुरुवार तक क्यूशू क्षेत्र में और अधिक बारिश का अनुमान है। कुछ क्षेत्रों के लिए प्रति घंटे 80 मिलीमीटर की आशंका जताई गई है। यह इस क्षेत्र में पूरे जुलाई महीने में होने वाली औसत बारिश के बराबर है।

मौसम विभाग के वरिष्ठ अधिकारी रयुता कुरोरा ने एक दिन पहले बताया कि गुरुवार तक मूसलाधार बारिश होने का अनुमान है। क्यूशू द्वीप के इससे सबसे ज्यादा प्रभावित होने की संभावना है।

लोगों को आपातकालीन आश्रयों में जाने के आदेश

स्थानीय मीडिया ने मंगलवार को बताया कि कागोशिमा, कुमामोतो और एहीम प्रांतों में सर्वाधिक प्रभावित क्षेत्रों में चार लाख घरों से आठ लाख 50 हजार लोगों को निकालने का आग्रह किया गया था। बुधवार को जारी एडवाइजरी चौथे चरण का है। यह मौसम विभाग के पैमाने में सर्वाधिक से महज एक स्तर कम है। इसके आधार पर स्थानीय अधिकारियों ने कहा कि एडवाइजरी के तहत लोगों को तेजी से आपातकालीन आश्रयों में जाना चाहिए।

LEAVE A REPLY