अजमल शहजाद MCC क्रिकेट अकादमी के हेड कोच हैं. वे इंग्लैंड के लिए तीनों फॉर्मेट में मैच खेल चुके हैं.

लंदन: अर्जुन तेंदुलकर भारत की अंडर-19 टीम के लिए खेल चुके हैं, लेकिन उनकी पहचान अब भी सचिन तेंदुलकर के बेटे की है. अर्जुन को भी यह बात पता है और वे अपनी पहचान बनाने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं. वे इन दिनों इंग्लैंड में गेंदबाजी की ट्रेनिंग ले रहे हैं. उन्हें गेंदबाजी सिखाने का जिम्मा अजमल शहजाद उठा रहे हैं. अजमल शहजाद MCC क्रिकेट अकादमी के हेड कोच हैं.

अजमल शहजाद ने बताया कि अर्जुन यहां पिछले कुछ साल से हैं. उनकी गेंदबाजी में निरंतर सुधार आया है. सबसे पहले तो वे एक बाएं हाथ के अच्छे तेज गेंदबाज हैं. वे अच्छी रफतार के साथ के गेंद को अंदर लाने में भी सक्षम हैं. अजमल ने कहा कि अर्जुन कई बार जो रुट को बल्लेबाजी करते हुए परेशानियों में डाल चुके हैं. उन्होंने पिछले साल जॉनी बेयरस्टो को भी कमाल की गेंदबाजी की थी. गेंदबाजी के साथ-साथ उनमें बल्ले से गेंद को बाहर मारने की भी कला है.

अजमल शहजाद खुद इंग्लैंड टीम का हिस्सा रह चुके है. उन्हें 11वनडे, 3 टी20 और एक टेस्ट खेलने का अनुभव है. अजमल इंग्लैंड के कप्तान इयोन मॉर्गन के साथ खेल चुके है. अजमल ने पांच अलग-अलग कॉउंटीज के लिए खेलते हुए 417 विकेट हासिल किए हैं. उनका मानना है कि 2020 तक कई नए और उभरते सितारे को अपनी अकादमी में शामिल करेंगे.

अर्जुन के बारे में शहजाद ने कहा, ‘वे काफी अच्छे बच्चे हैं. वे सीखना चाहते हैं. मेहनत करना चाहते हैं.’ अजमल शहजाद ने मजाकिया लहजे में अर्जुन के पिता सचिन का जिक्र भी किया. उन्होंने कहा, ‘मैं जानता हूं कि सचिन गेंदबाजी ज्यादा नही करते थे और यह अर्जुन के लिए फायदेमंद साबित होगा. अजमल शहजाद के लिए उनका खुद का सफ़र उतार चढ़ाव से भरा रहा. पहले तो ब्रिटिश एशियाई कम्युनिटी से ना होना, चोटों से अपने करियर में सामना करना.

LEAVE A REPLY