कैलाश विजयवर्गीय ने कहा, ‘अंतरराष्ट्रीय सीमा पार कर पश्चिम बंगाल में लगातार घुसपैठिए आ रहे हैं. नक्सलियों को अवैध हथियार प्रदान करने वाले गिरोह भी इसी सूबे में काम कर रहे हैं.’ 

इंदौर: पश्चिम बंगाल में कानून-व्यवस्था दिनों-दिन खराब होने का आरोप लगाते हुए बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने मंगलवार को कहा कि ममता बनर्जी नीत तृणमूल कांग्रेस सरकार के कारण देश की आंतरिक सुरक्षा को खतरा है.

विजयवर्गीय ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘पश्चिम बंगाल की तृणमूल कांग्रेस सरकार के कारण देश की आंतरिक सुरक्षा को खतरा है. लिहाजा इस सरकार का पश्चिम बंगाल की सत्ता से हटना बेहद जरूरी है.’

‘पश्चिम बंगाल में लगातार घुसपैठिए आ रहे हैं’ 
पश्चिम बंगाल के प्रभारी बीजेपी महासचिव ने कहा, ‘अंतरराष्ट्रीय सीमा पार कर पश्चिम बंगाल में लगातार घुसपैठिए आ रहे हैं. नक्सलियों को अवैध हथियार प्रदान करने वाले गिरोह भी इसी सूबे में काम कर रहे हैं.’

विजयवर्गीय ने कहा, ‘बम और पिस्तौल वहां (पश्चिम बंगाल) के राजनीतिक दलों के मुख्य हथियार हैं. बीजेपी ने वहां की जनता से वादा किया है कि हम पश्चिम बंगाल में शांति स्थापित करेंगे और बम, पिस्तौल, बंदूक और धमाकों की मौजूदा राज्य सरकार को सत्ता से बाहर करेंगे.’

उन्होंने यह दावा भी किया कि अगर सुरक्षा एजेंसियां जांच करें तो पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के नेताओं के ठिकानों से बमों का बड़ा जखीरा बरामद हो सकता है.

विजयवर्गीय ने कमलनाथ सरकार पर हमला बोला 
इस बीच, विजयवर्गीय ने यहां बीजेपी की ‘किसान आक्रोश रैली’  में हिस्सा लिया. उन्होंने प्रदेश की कमलनाथ सरकार पर हमला बोलते हुए आरोप लगाया कि सत्तारूढ़ कांग्रेस किसानों का कर्जा माफ करने और बेरोजगारों को भत्ता देने के अपने वादे निभाने में नाकाम रही है.  उन्होंने कमलनाथ सरकार पर यह आरोप भी लगाया कि सूबे में बड़े पैमाने पर किये गये तबादलों में भारी भ्रष्टाचार किया गया है.

बीजेपी महासचिव ने तंज किया, ‘हमने अब तक सांपनाथ और नागनाथ का नाम सुना था. लेकिन कमलनाथ ऐसे हैं कि वह अपने लोगों को भी डस लेते हैं.’  उन्होंने हाल के लोकसभा चुनावों के दौरान दिग्विजय सिंह, ज्योतिरादित्य सिंधिया और अजय सिंह की हार का जिक्र करते हुए कहा कि सूबे के इन दिग्गज कांग्रेस नेताओं को कमलनाथ ने ‘डस’ लिया.

विजयवर्गीय ने कहा, ‘लोकसभा चुनावों के दौरान कमलनाथ ने प्रदेश में कांग्रेस का पूरा मैदान साफ कर दिया. इस बीच, उन्होंने अपने बेटे नकुल नाथ को छिंदवाड़ा सीट से चुनाव लड़वा दिया. (चुनाव जीतने के बाद) नकुल नाथ कांग्रेस के नये नेता के रूप में पैदा हो गए.’

LEAVE A REPLY