वाईनेट’ समाचार साइट के अनुसार अभियोजक के कार्यालय ने बताया कि नेतन्याहू ने अनुरोध किया था कि ‘नेसेट के भंग होने और 17 सितंबर को होने वाले चुनाव के मद्देनजर सुनवाई चुनाव के बाद की किसी तारीख तक के लिए टाली’ जाए.

यरूशलम: इजराइल के अटॉर्नी जनरल ने देश के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों की अदालत में सुनवाई टालने का अनुरोध ठुकरा दिया है. ‘वाईनेट’ समाचार साइट के अनुसार अभियोजक के कार्यालय ने बताया कि नेतन्याहू ने अनुरोध किया था कि ‘नेसेट के भंग होने और 17 सितंबर को होने वाले चुनाव के मद्देनजर सुनवाई चुनाव के बाद की किसी तारीख तक के लिए टाली’ जाए.

उसने बताया कि अभियोजन के कार्यालय ने मामले पर विचार करने के बाद कहा कि ‘‘सुनवाई के लिए तय तारीख में बदलाव के अनुरोध को स्वीकार करने का कोई आधार नजर नहीं आता’’. नेतन्याहू रिश्वत, धोखाधड़ी और न्यास भंग के आरोपों का सामना कर रहे है.

आपको बता दें, इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के बुधवार (29 मई) को आधी रात की समय सीमा से पूर्व गठबंधन सरकार बनाने में नाकाम रहने के बाद इजराइली सांसदों ने अभूतपूर्व कदम उठाते हुए गुरुवार को संसद भंग करने के पक्ष में मतदान किया. अब 17 सितंबर को फिर से आम चुनाव कराए जाएंगे. इजराइली सांसद करीब छह सप्ताह पहले ही निर्वाचित हुए थे. उन्होंने 21वीं नेसेट (इजराइली संसद) को भंग करने और इसी कैलेंडर वर्ष में दूसरी बार आम चुनाव कराने के पक्ष में 45 के मुकाबले 74 मतों से प्रस्ताव पारित किया.

LEAVE A REPLY