बीएसपी प्रमुख मायावती ने कहा कि पीएम मोदी ने बीएसपी का नया फुल फॉर्म दिया है- बहनजी की संपत्ति पार्टी. मैं उन्हें बता दूं कि बतौर पार्टी अध्यक्ष मुझे कार्यकर्ताओं से तोहफे मिले हैं. ये पूरा देश जानता है. सरकार से कुछ भी छुपा हुआ नहीं है.

लखनऊ: बहुजन समाज पार्टी (BSP) प्रमुख मायावती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से किए गए जुबानी हमले पर पलटवार किया है. पीएम मोदी ने मंगलवार को चुनावी सभा में कहा था कि बुआ-बबुआ (मायावती-अखिलेश यादव) मिलकर जीतने दिन मुख्यमंत्री रहे वे उससे कहीं ज्यादा दिन तक गुजरात के सीएम रहे. इसके बावजूद उनपर निजी संपत्ति बढ़ाने का कोई आरोप नहीं है.

पीएम के इस वार पर मायावती ने बुधवार को कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सही कह रहे हैं कि वे गुजरात में मुझसे ज्यादा दिन मुख्यमंत्री रहे. मैं जिस वक्त उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री थी उसी वक्त पीएम मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे, लेकिन उनकी विरासत सांप्रदायिकता के रूप में एक काला धब्बा है. जबकि हमने उत्तर प्रदेश में दंगा और अराजकता मुक्त सरकार चलाई.

बीएसपी प्रमुख मायावती ने कहा, ‘पीएम मोदी ने बीएसपी का नया फुल फॉर्म दिया है- बहनजी की संपत्ति पार्टी. मैं उन्हें बता दूं कि बतौर पार्टी अध्यक्ष मुझे कार्यकर्ताओं से तोहफे मिले हैं. ये पूरा देश जानता है. सरकार से कुछ भी छुपा हुआ नहीं है.

 

 

यहां आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पिछले दो दिनों से उत्तर प्रदेश की चुनावी सभाओं में लगातार कह रहे हैं कि वे मायावती और अखिलेश यादव के मुकाबले ज्यादा दिन मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री रहे, लेकिन उनपर भ्रष्टाचार के कोई आरोप नहीं हैं. पीएम मोदी आरोप लगा रहे हैं कि सपा-बसपा की सरकारों में नेताओं की निजी संपत्ति में बेतहाशा तरीके से बढ़ोत्तरी हुई है.

इससे पहले बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर ट्वीट के जरिये जोरदार हमला करते हुए कहा था कि उनकी नैया डूब रही है और आरएसएस ने भी उनका साथ छोड़ दिया है. वहीं, बलिया में सपा-बसपा गठबंधन की एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि 23 मई से भाजपा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के बुरे दिन शुरू हो जाएंगे.

LEAVE A REPLY