फेड ने बयान में कहा कि मार्च से श्रम बाजार में ‘मजबूती बनी हुई है’, जबकि पहली तिमाही में घरेलू खर्च और व्यापार में निश्चित निवेश में गिरावट दर्ज की गई है. इस बैठक से पहले ट्रंप ने फेड द्वारा ब्याज दरों में वृद्धि करने की फिर से आलोचना की थी और केंद्रीय बैंक से अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए ब्याज दरें कम करने का आग्रह किया था.

वाशिंगटन : अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व ने ब्याज दरें घटाने की राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की मांग को दरकिनार करते हुए ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया. अमेरिकी केंद्रीय बैंक ने मंगलवार को शुरू हुई अपनी दो दिवसीय बैठक खत्म होने के बाद बुधवार को एक बयान जारी कर कहा कि फेड की नीति निर्माण समिति ‘फेडरल ओपन मार्केट कमिटी’ ने फेडरल फंड्स के लिए लक्ष्य सीमा 2.25 प्रतिशत से 2.5 प्रतिशत पर ही कायम रखने का फैसला किया है.

ट्रंप ने ब्याज दर बढ़ाने की की थी आलोचना
फेड ने बयान में कहा कि मार्च से श्रम बाजार में ‘मजबूती बनी हुई है’, जबकि पहली तिमाही में घरेलू खर्च और व्यापार में निश्चित निवेश में गिरावट दर्ज की गई है. इस बैठक से पहले ट्रंप ने फेड द्वारा ब्याज दरों में वृद्धि करने की फिर से आलोचना की थी और केंद्रीय बैंक से अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए ब्याज दरें कम करने का आग्रह किया था. ट्रंप ने ट्वीट कर कहा था, ‘मुद्रास्फीति कम होने के बावजूद हमारे फेडरल रिजर्व ने लगातार ब्याद दरें बढ़ाई हैं.’

केंद्रीय बैंक का नीतिगत रुख बिल्कुल सही
ट्रंप ने कहा, ‘अगर ब्याज दरें थोड़ी घटा दें तो हमारी अर्थव्यवस्था रॉकेट की तरह ऊपर जा सकती है.’ बाहरी राजनीतिक दबाव को लेकर पूछे गए एक सवाल पर फेड के अध्यक्ष जेरोम पॉवेल ने बुधवार को केंद्रीय बैंक की स्वतंत्रता का बचाव किया. पॉवेल ने कहा, ‘हम एक गैर-राजनीतिक संस्था हैं और इसका अर्थ है कि हम संक्षिप्त अवधि के राजनीतिक विचारों के बारे में नहीं सोचते.’

फेडरल रिजर्व, Federal Reserve, Federal Reserve interest rates, donald trump

उन्होंने कहा, ‘हम उन पर कोई चर्चा नहीं करते और हम किसी भी तरह अपने फैसले लेते समय उन पर विचार नहीं करते.’ पॉवेल ने जोर देकर कहा कि केंद्रीय बैंक का नीतिगत रुख इस समय बिल्कुल उचित है.

LEAVE A REPLY