देश के दो बड़ी आईटी कंपनी-टीसीएस और इन्‍फोसिस के नतीजे आ गए हैं. इंफोसिस का शुद्ध लाभ वित्त वर्ष 2018- 19 में 3.9 फीसदी घटकर 15,410 करोड़ रुपये रहा जबकि टीसीएस का वित्त वर्ष 2018-19 का मुनाफा 21.9 फीसदी बढ़कर 31,472 करोड़ रुपये रहा.

नई दिल्‍ली/आईटी सेक्‍टर की दो प्रमुख कंपनी इंफोसिस और टीसीएस के वित्त वर्ष 2018- 19 के नतीजे आ गए हैं. देश की सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) का शुद्ध लाभ 31 मार्च, 2019 को समाप्त पिछले वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में 17.7 फीसदी बढ़कर 8,126 करोड़ रुपये रहा.

टीसीएस को पिछले वित्त वर्ष 2017-18 की चौथी तिमाही में कंपनी का शुद्ध मुनाफा 6,904 करोड़ रुपये रहा था. टीसीएस ने कहा कि पूरे वित्त वर्ष 2018-19 के दौरान उसका शुद्ध लाभ 21.9 फीसदी की वृद्धि के साथ 31,472 करोड़ रुपये हो गया जबकि राजस्व 19 फीसदी बढ़कर 1,46,463 करोड़ रुपये रहा. इसी बीच टीसीएस के निदेशक मंडल ने अपने शेयरधारकों को प्रति शेयर 18 रुपये का अंतिम लाभांश देने की सिफारिश की है.

टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) एवं प्रबंध निदेशक राजेश गोपीनाथन ने कहा, ‘आय में वृद्धि के लिहाज से देखें तो यह पिछली 15 तिमाहियों में सबसे बेहतर प्रदर्शन है.पहले की तीन तिमाहियों की तुलना में हमारे पास अधिक ऑर्डर है. साथ ही ऐसे सौदों की संख्या भी काफी अच्छी है, जिन पर बात चल रही है.’

इन्‍फोसिस का शुद्ध लाभ 3.9 फीसदी घटा

इन्‍फोसिस का शुद्ध लाभ वित्त वर्ष 2018-19 की अंतिम तिमाही में 10.5 फीसदी बढ़कर 4,078 करोड़ रुपये रहा.इससे पिछले वित्त वर्ष 2017-18 की इसी तिमाही में कंपनी का शुद्ध लाभ 3,690 करोड़ रुपये रहा था. अगर वित्त वर्ष 2018-19 के दौरान कंपनी का शुद्ध लाभ 3.9 फीसदी घटकर 15,410 करोड़ रुपये रहा. जबकि कंपनी का कुल कारोबार 17.2 प्रतिशत बढ़कर 82,675 करोड़ रुपये रहा.

इन्‍फोसिस मजबूत स्थिति में

इन्‍फोसिस के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और प्रबंध निदेशक सलिल पारेख ने कहा, ‘‘हमारे योजनाबद्ध निवेश का प्रतिफल मिलना शुरू हो गया है. चालू वित्त वर्ष के दौरान हम अपने कारोबारी परिचालन की क्षमता बढ़ाने के लिए कई और कदम उठाएंगे.’’ उन्होंने कंपनी के परिणामों को राजस्व वृद्धि, डिजिटल पोर्टफोलियो के प्रदर्शन और बड़े सौदों समेत कई पैमानों पर मजबूत करार दिया. इन्‍फोसिस के निदेशक मंडल ने 2018-19 के लिए प्रति शेयर 10.50 रुपये का अंतिम लाभांश देने की घोषणाा की है. इससे पहले कंपनी ने सात रुपये प्रति शेयर का अंतरिम लाभांश दिया था. इस प्रकार बीते वित्त वर्ष के लिये प्रत्येक शेयर पर कुल 17.50 रुपये लाभांश होगा.

LEAVE A REPLY