अधिकारियों ने बताया कि पश्चिमी मिदनापुर, पुरूलिया, झाड़ग्राम, बांकुरा, हावड़ा, कोलकाता और उत्तर एवं दक्षिण 24 परगना जिलों सहित कई स्थानों में रामनवमी की रैलियां निकाली गई.

कोलकाता: पश्चिम बंगाल के विभिन्न हिस्सों में शनिवार को बीजेपी और विहिप द्वारा निकाली गई रैलियों जिनमें कुछ सशस्त्र रैलियां भी थी, की प्रदेश की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कड़ी आलोचना की है.

अधिकारियों ने बताया कि पश्चिमी मिदनापुर, पुरूलिया, झाड़ग्राम, बांकुरा, हावड़ा, कोलकाता और उत्तर एवं दक्षिण 24 परगना जिलों सहित कई स्थानों में रामनवमी की रैलियां निकाली गई. पश्चिमी मिदनापुर के खड़गपुर में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने रामनवमी की रैली निकाली और वह इनमें तलवारों एवं गदाओं का प्रदर्शन करते दिखे.

रैली के बारे में पूछे जाने पर घोष ने कहा,‘रामनवमी की रैली हमारी परंपरा का हिस्सा है. हम अपनी रक्षा के लिए हथियार लेकर चल रहे थे. इसका चुनावों के साथ कोई संबंध नहीं है. यदि तृणमूल कांग्रेस को शस्त्र रैलियों से समस्या है तो उन्हें अपने सोचने के तरीके को बदलना चाहिए.’

 

ममता बनर्जी ने साधा बीजेपी पर निशाना 
मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सिलिगुड़ी में एक रैली में शस्त्र रैलियां निकालने के लिए बीजेपी की आलोचना की और कहा कि वे राजनीतिक फायदे के लिए ‘धर्म को बेचने’ की कोशिश कर रहे हैं. उन्होंने बीजेपी पर लोगों को गुमराह करने के लिए धर्म का उपयोग करने का आरोप लगाया.

कोलकाता पुलिस ने बताया कि शहर में किसी भी राजनीतिक, गैरराजनीतिक और धार्मिक संगठनों को बाइक रैली निकालने की अनुमति नहीं दी गई. पश्चिम बंगाल पुलिस ने शस्त्रों के साथ रामनवमी रैली निकालने की इजाजत नहीं होने देने की बात कही.

LEAVE A REPLY