बसपा सुप्रीमो मायावती ने पार्टी के प्रमुख पदाधिकारियों के साथ सेक्टर और जोनल कोआर्डिनेटर की अहम बैठक बुलाई है. 

नई दिल्ली/लखनऊ: बसपा गुरुवार (14 मार्च) को लोकसभा उम्मीदवारों के नाम का ऐलान कर सकती है. जानकारी के मुताबिक, बसपा सुप्रीमो मायावती ने पार्टी के प्रमुख पदाधिकारियों के साथ सेक्टर और जोनल कोआर्डिनेटर की अहम बैठक बुलाई है. बैठक में जहां मंडल और जिलों में आयोजित की गई बैठकों का फीडबैक लिया जाएगा. वहीं, उम्मीदवारों के नामों पर भी अंतिम मुहर लगाए जाने की चर्चा है. उम्मीद जताई जा इसी बैठक के बाद बसपा लोकसभा चुनाव में अपने उम्मीदवारों के नामों का ऐलान भी कर सकती है.

आपको बता दें कि बसपा अध्यक्ष ने पिछले दिनों संगठन का पुनर्गठन करने के बाद मंडल और जिले स्तर पर बैठकों का निर्देश दिया था. जिला स्तर पर सपा-बसपा की साझा बैठकें जारी हैं. ये बैठकें 18 मार्च तक प्रस्तावित हैं. गुरुवार को होने वाली बैठक में लोकसभा चुनाव की तैयारियों को जहां अंतिम रूप दिया जाएगा, वहीं जमीनी स्तर पर सपा के साथ कैसे और बेहतर तालमेल बने इस पर भी चर्चा होगी.

बसपा इस बार सपा के साथ गठबंधन कर 38 सीटों पर चुनाव लड़ रही है और जानकारी ये है कि सीटवार उम्मीदवारों के नामों का पैनल तैयार किया जा चुका है, बस इसे अंतिम रूप देना बाकी है.

आपको बता दें कि मायावती पिछले दिनों ये साफ कर चुकी हैं कि बसपा कांग्रेस के साथ किसी भी राज्य में कोई गठबंधन नहीं करने वाली हैं. मायावती के इस बयान के बाद बुधवार (13 मार्च) को प्रियंका गांधी वाड्रा मेरठ पहुंची और उन्होंने भीम आर्मी के नेता चंद्रशेखर आजाद से मुलाकात की. इस मुलाकात के बाद सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव भी बसपा सुप्रीमो से मिलने पहुंचे. इस मुलाकात के बाद अखिलेश यादव ने अपने ट्विटर अकाउंट पर अपना और मायावती का फोटो शेयर किया है, जिसका कैप्शन उन्होंने लिखा है आज एक मुलाकात ‘महापरिवर्तन’ के लिए… इस ट्वीट के बाद ये कयास और तेज हो गए हैं कि सपा-बसपा गठबंधन जल्द ही कोई बड़ा फैसला ले सकता है.

LEAVE A REPLY