हर बस में 2 सुरक्षा गार्ड, संबंधित स्कूल की प्रिंसिपल और दो अफसरों की मौजूदगी में परीक्षा केन्द्रों के संबंधित थाने में प्रश्न पत्रों का पहुंचाया गया.

ललित कुमार/जयपुर: 7 मार्च से शुरू होने वाली माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की परीक्षाओं के प्रश्न पत्रों का मंगलवार को वितरण किया गया. राजस्थान में प्रश्न पत्रों के वितरण के लिए 33 नोडल सेंटरों का गठन किया गया है. जयपुर जिले के प्रश्न पत्रों का वितरण राजधानी के पौद्दार स्कूल में किया गया. जयपुर जिले के 556 परीक्षा केन्द्रों पर 67 बसों द्वारा प्रश्न पत्रों को पहुंचाया गया.

खबर के मुताबिक सुबह 9 बजे शुरू हुई प्रश्न पत्रों के वितरण की प्रक्रिया दोपहर बाद तक चली. सुरक्षा की दृष्टि से इस दौरान भारी संख्या में पुलिस बल भी तैनात रही. साथ ही हर बस में 2 सुरक्षा गार्ड, संबंधित स्कूल की प्रिंसिपल और दो गजटेड अफसरों की मौजूदगी में परीक्षा केन्द्रों के संबंधित थाने में प्रश्न पत्रों का पहुंचाया गया.

बता दें कि 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं जहां 7 मार्च से शुरू हो गई थी, जबकि 14 मार्च से 10वीं बोर्ड की परीक्षाओं की शुरूआत हो रही है. ऐसे में 10वीं और 12वीं बोर्ड के प्रश्न पत्रों का वितरण मंगलवार को किया गया. पहले 4 मार्च को होने वाले प्रश्न पत्रों का वितरण किन्हीं कारण से एक दिन देरी से किया गया था. प्रश्न पत्र ले जाने के लिए हर साल की तरह जयपुर जिले के लिए 67 बसों का इंतजाम किया गया जिन्होंने जयपुर के 556 परीक्षा केन्द्रों पर प्रश्न पत्रों का पहुंचाने का काम किया. साथ ही सुरक्षा की दृष्टि से पौद्दार स्कूल में करीब 100 से ज्यादा पुलिस कर्मियों की तैनातगी और वीडियोग्राफी की व्यवस्था रखी गई थी.

प्रश्न पत्रों का लेने के लिए हर बस में 2 सुरक्षा गार्ड,2 गजिटेड अफसर सहित हर स्कूल के एक प्रिंसीपल और शिक्षक की ड्यूटी लगी हुई थी. साथ ही उस बस के लिए एक इंजार्च की भी नियुक्ति की गई थी. इंचार्ज विनोद वर्मा ने बताया की हर साल की तरह इस साल भी सुरक्षा के विशेष बंदोबस्त किए गए हैं. सुरक्षा गार्डों के साथ ही प्रिंसिपल और इंचार्ज भी पेपर थानों तक पहुंच जाने तक पूरी निगरानी रखेंगे.

पौद्दार स्कूल में सुबह 9 बजे से शुरू हुई प्रश्न पत्रों के वितरण के दौरान जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक मुख्यालय जयपुर राचन्द्र पिलानिया भी मौजूद रहे, जो समय समय पर प्रश्न पत्रों के वितरण की पूरी जानकारी ले रहे थे. साथ ही उनके साइन के बाद ही बसों को संबंधित थानों के लिए रवाना किया जा रहा था. डीईओ रामचन्द्र पिलानिया ने बताया की प्रश्न पत्रों के वितरण में सुरक्षा का विशेष ध्यान दिया जा रहा है, यहां तक कि प्रश्न पत्रों के वितरण की वीडियोग्राफी की करवाई जा रही है.

LEAVE A REPLY